तस्करी / पाकिस्तान से बंगाल के रास्ते रांची पहुंचे नकली नोट, पुलिस ने दो को गिरफ्तार किया



Two people arrested with fake notes in Jharkhand
X
Two people arrested with fake notes in Jharkhand

  • बुढ़मू में 84500 रुपए के नकली नोट जब्त,  इनमें दो हजार के 42 नोट और एक 500 रुपए का नोट
  • गिरफ्तार लोगों में झारखंड और दूसरा पश्चिम बंगाल से है, कई साल से करते आ रहे थे गलत काम

Dainik Bhaskar

Sep 15, 2019, 05:26 AM IST

ठाकुरगांव (बुढ़मू). बुढ़मू पुलिस ने शुक्रवार को नकली नोट का कारोबार करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से 84,500 रुपए के नकली नोट जब्त किए गए हैं। इनमें दो हजार के 42 नोट और एक 500 रुपए का नोट हैं। 


रांची के एसएसपी अनीश गुप्ता ने बताया कि गिरफ्तार लोगों में ठाकुरगांव के बरौदी गांव निवासी एनुल अंसारी और मालदा जिला (प. बंगाल) के वैष्णव नगर का सघन मंडल हैं। दोनों को बरौदी गांव से उस समय गिरफ्तार किया गया, जब वे नकली नोटों की खेप खपाने के लिए साथ जा रहे थे।

 

एसपी के अनुसार, एनुल अंसारी नकली नोटों का धंधा 15 साल से कर रहा है। उसका नेटवर्क बांग्लादेश, पाकिस्तान, नेपाल तक फैला है। उसे 2007 में भी नकली नोटों के कारोबार में गिरफ्तार किया गया था। उस वक्त उसने सिर्फ रांची और आसपास के क्षेत्रों में ही 10 करोड़ रुपए से अधिक के जाली नोट खपाने की बात कबूल की थी।  लेकिन पैसा और पहुंच के बल पर वह जेल से निकल आया था और फिर से धंधा करने लगा था। 


पूछताछ में दोनों ने लंबे समय से जाली नोट खपाने की बात कबूल की है। उन दोनों ने बताया कि जाली नोट पाकिस्तान से बांग्लादेश या नेपाल के रास्ते भारत आता है। इसके बाद पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के रास्ते झारखं0ड पहुंचा जाता है। एसपी के मुताबिक नकली नोट हूबहू असली नोट की तरह दिखते हैं। इन्हें आम लोगों द्वारा पहचानना बहुत ही मुश्किल है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना