सिनी टाटा ट्रस्ट की पहल से अब बच्चे ही नहीं अभिभावक भी पढ़ेंगे किताबें

Ranchi News - सरकारी विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है। 2011 से जिले में सिनी टाटा...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:31 AM IST
Khuti News - with the initiative of sini tata trust now not only children will also read books
सरकारी विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है। 2011 से जिले में सिनी टाटा ट्रस्ट द्वारा भी बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने के लिए प्रयास किए गए हैं। बच्चों की उपस्थिति को और बढ़ाने के लिए सिनी टाटा ट्रस्ट द्वारा शिक्षा विभाग के सहयोग से जिले के सभी ब्लॉक के विद्यालयों में एक पहल शुरू की है। जिसका मुख्य उद्देश्य अभिभावकों को शिक्षा के प्रति जागरूक करना, घर पर अपने बच्चों में पढ़ने की आदत का विकास करना और सरकारी विद्यालयों में उपस्थित को बढ़ाना है।

जिसके तहत ग्रामसभा में पुस्तकालय मेला लगाने का प्रयास शुरू किया गया है। इस दौरान अभिभावक अपनी पसंद की पुस्तकें पढ़ते हैं और पढ़ने के लिए घर भी ले जाते हैं। पुस्तकालय मेला में हिंदी किताबो के साथ साथ स्थानीय भाषा मुंडारी में भी किताबों को प्रदर्शित किया जाता है। जिससे अभिभावकों में किताबें के प्रति रुचि बढ़ रही है और शिक्षा के बारे में अपनी समझ बढ़ा रहे हैं।

पुस्तकालय के माध्यम से अभिभावक को शिक्षा के महत्व के बारे में बताया जा रहा है। सभी अभिभावक की उपस्थिति में विद्यालय में बच्चों की उपस्थिति को साझा किया गया। विद्यालय में बच्चों की उपस्थिति कैसे बढ़ेगी ग्राम सभा स्वयं निर्णय लेती है। अब तक 150 विधालयों में ग्रामसभा का आयोजन किया गया है। जिस विद्यालय में ग्राम सभा हुई है,वहां बच्चों की उपस्थित बढ़ी है। इसमें सिनी टाटा ट्रस्ट के लर्निंग फैसिलिटीटेटर की तथा विद्यालय के शिक्षक ग्रामसभा में जा कर पुस्तकें प्रदर्शित करते हैं। पुस्तकें ग्रामसभा में पढ़ा जाता हैं और चर्चा भी की जाती है। ग्राम सभाओं के माध्यम से अभिभावकों को विद्यालय से जोड़ने का प्रयास किया जाता है।

विद्यालय में अभिभावकों की भूमिका के बारे में विस्तृत जानकारी दी जाती है। इसके अलावा किस बच्चे ने कितनी पुस्तकें पढ़ी है यह भी बताया जाता है। परिणाम स्वरूप अभिभावक बच्चों को घर पर पढ़ने के लिए प्रेरित करने लगे हैं। मोबाइल के इस दौर में किताबें पढ़ने का प्रचलन धीरे धीरे कम होता जा रहा है यह प्रयास लोगों में किताबों के प्रति धीरे धीरे रुचि भी बढ़ाएगा। इससे शिक्षा के प्रति लोगो के बीच रूचि जगेगी। एक अच्छा माहौल बनेगा। इसका फायदा होगा कि वे बच्चों की शिक्षा के प्रति जागरूक होंगे। इससे वे बच्चों को स्कूल भेजेंगे ।

X
Khuti News - with the initiative of sini tata trust now not only children will also read books
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना