• Hindi News
  • National
  • Ranchi News Women39s Economic Prosperity Is Important Only Then Their Voice Will Be Heard Everywhere And They Will Get Respect

महिलाओं की आर्थिक संपन्नता जरूरी, तभी उनकी आवाज हर जगह सुनी जाएगी और मिलेगा सम्मान

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर रोटरी क्लब, रांची के तत्वावधान में महिला सशक्तीकरण पर सेमिनार हुआ। इसका उद्घाटन मोटिवेटर सह मुक्ति संस्था की रश्मि साहा और क्लब के अध्यक्ष संदीप मुंजाल ने किया। इस मौके पर रश्मि साहा ने कहा कि महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए पहली और सबसे बड़ी जरूरत उनका आर्थिक सशक्तीकरण है। आज महिला सशक्तीकरण की बात इनकी सुरक्षा, सामाजिक अधिकार जैसे मुद्दों तक ही सीमित रह जाती है। जबकि सशक्तीकरण का दायरा इससे कहीं व्यापक है। महिलाओं की आवाज हमेशा से दबाई जाती रही है। समाज इनकी बातों को ज्यादा तरजीह नहीं देता है। यदि महिलाएं आर्थिक तौर पर मजबूत होंगी, तभी उनकी बातों को महत्व दिय जाएगा। संदीप मुंजाल ने कहा कि महिला सशक्तीकरण का प्रभाव उनके बच्चों के भविष्य पर भी पड़ता है। आर्थिक रूप से संपन्न माताएं अपने बच्चों की परवरिश, शिक्षा, स्वास्थ्य की दिशा में उचित पहल कर सकेंगी, जिससे उनके बच्चे को बेहतर भविष्य मिलेगा। प्रवीण राजगढ़िया ने कहा कि हाल में विश्व आर्थिक मंच द्वारा जारी ग्लोबल जेंडर इंडेक्स लैंगिंग समानता के मामले में भारत को 87 वां स्थान मिला है। इसमें आर्थिक तौर पर असमानता सबसे बड़ी चुनौती बताई गई है। आर्थिक रूप से सशक्त महिलाएं ही सामाजिक सुरक्षा और अपने अधिकारों की लड़ाई बखूबी लड़ सकती हैं। ख्याति मुंजाल ने कहा कि सरकार ने महिलाओं के आर्थिक सशक्तीकरण पर कदम उठाए हैं, इसका असर भी दिख रहा है। पर, इस क्षेत्र में अभी बहुत कुछ करना होगा। सबसे जरूरी है कि महिलाओं के आर्थिक सशक्तीकरण को लेकर समाज का एक बड़ा हिस्सा अपनी सोच को बदलें। इस अवसर पर रोटरी के पूर्व गवर्नर जोगेश गंभीर, पूर्व गवर्नर राजीव मोदी, डॉ. अनिल पांडेय, मखीजा, गौरव बोर्गेय, विनय महाराज, शाहिद पाल, मनीषा जालान, राजेश नाथ शाहदेव, सुरेश साबू, प्रदीप बहल, मनीष सिंह, अंशु बहल, कांता मोदी, सी एम गुप्ता, अजय जैन, रचना जैन, अजय साबू, राबिया पाल, मनीष जालान, रीता गुप्ता, हेमन्त गुप्ता, हितेश भगत, सुजाता गुप्ता, असित महापात्रा, एस के मल्होत्रा, आदित्य मल्होत्रा समेत बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

Sports/ACtivity
महिला सशक्तीकरण पर अपनी बातें रखतीं मोटिवेटर सह मुक्ति की सदस्य रश्मि साहा।

खबरें और भी हैं...