--Advertisement--

हत्या / नकाबपोश अपराधियों ने घर में घुसकर युवक की गोली मारकर की हत्या, दोनों अपराधी फरार



सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।
  • सुनसान इलाका में घर होने के कारण मृतका की पत्नी घटना की जानकारी किसी को नहीं दे पाई 
  • देर रात करीब 9 बजे उसे रिम्स ले जाया जा रहा था। तभी उसकी नगड़ी के समीप मौत हो गई
Danik Bhaskar | Sep 16, 2018, 07:14 PM IST

गुमला.  सिमडेगा जिला के गोंदली पानी निवासी 48 वर्षीय बुधराम भगत की नकाबपोश अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। घटना शनिवार को दोपहर करीब दो बजे की है। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी भाग गए। घटना के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। मृतक की पत्नी राधा उरांव ने बताया कि उसका पति बुधराम भगत सीधा साधा व्यक्ति था। वह किसी प्रकार खेतीबारी कर जीविकोपार्जन चलाता था। 

पत्नी जबतक पहुंचते भागे अपराधी

  1. तीन घंटे तक इलाज के अभाव में तपड़पता रहा बुधराम

    सुनसान इलाका में घर होने के कारण मृतका की पत्नी घटना की जानकारी किसी को नहीं दे पाई। पति के सीने से बह रहे खून को रोकने के प्रयास में जुट गई। करीब तीन घंटे तक बुधराम घर में ही तड़पता रहा। इसके बाद पत्नी ने घटना की सूचना लोदाम कोनबीरा गांव की रहने वाली अपनी ननद जानकी देवी को दी। पत्नी के पास पैसे का भी अभाव था। उसने गांव में लोगों को घटना की जानकारी देते हुए मदद की गुहार लगाई। तभी एक कमेटी चलाने वाले हीरा विलुंग नाम के ग्रामीण ने उसे 10 हजार की मदद दी। इसके बाद पत्नी एक बोलेरो जुगाड़ कर बुधराम को इलाज के लिए सिमडेगा नहीं ले जाकर सदर अस्पताल गुमला लेकर पहुंची। चूंकि सिमडेगा जाने का रास्ता खराब है।  

  2. रिम्स ले जाने के क्रम में रास्ते में दम तोड़ा

    सदर अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टर सुनील किस्कू ने प्राथमिक उपचार के बाद बुधराम की स्थिति को गंभीर देख रिम्स रेफर कर दिया। देर रात करीब 9 बजे उसे रिम्स ले जाया जा रहा था। तभी उसकी नगड़ी के समीप मौत हो गई। फिर शव को वापस सदर अस्पताल ले आया गया। इधर, घटना की सूचना के बाद रविवार को सुबह सदर थाना की पुलिस मौके पर पहुंच कर घटना की सूचना सिमडेगा पुलिस को दी। घटना के कारणों पर पत्नी ने कहा कि उनलोगों की किसी से कोई दुश्मनी नही थी। पति की हत्या किसने व क्यों की इसकी जानकारी नहीं है।