सदर

  • Home
  • Jharkhand News
  • Sadar
  • लाठी डंडे के बाद होने लगी गोलीबारी, बीच में आए उपसरपंच के बेटे तो मार दी गोली
--Advertisement--

लाठी डंडे के बाद होने लगी गोलीबारी, बीच में आए उपसरपंच के बेटे तो मार दी गोली

मुफस्सिल थाना क्षेत्र के महदह गांव में बुधवार को गोलियों की तड़तड़ाहट गूंज उठी। गोलियों की आवाज सुन आसपास भगदड़ मच...

Danik Bhaskar

Mar 01, 2018, 03:55 AM IST
मुफस्सिल थाना क्षेत्र के महदह गांव में बुधवार को गोलियों की तड़तड़ाहट गूंज उठी। गोलियों की आवाज सुन आसपास भगदड़ मच गयी। लोग इधर-उधर भागने लगे। तभी देखा कि उपसरपंच के बेटे को गोली लग गयी। जिस युवक को गोली लगी है उसका इस घटना से कोई लेनादेना नहीं है। बताया जा रहा है कि जमीन के विवाद में दो पक्षों के बीच हुई भिड़ंत में घटना हुई है। जिसमें मारपीट जब हो रही थी। उसी समय उपसरपंच का बेटा उस रास्ते से गुजर रहा था। उसे गोली लग गई। जबकि तीन अन्य गंभीर रूप से जख्मी हो गए। मारपीट पूर्व के जमीनी विवाद में हुआ है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचकर सभी जख्मियों को इलाज के लिए सदर अस्पताल ले आई। गोली लगे युवक की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। डॉक्टरों ने उसे पटना के लिए रेफर कर दिया है। वहीं पीड़ितों के बयान पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। हालांकि इस मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी की सूचना नहीं है।

रास्ते से गुजर रहे युवक को जा लगी गोली

पूर्व से चल रहा था जमीन विवाद : पीड़ित सुमेश्वर यादव ने बताया कि महदह गांव निवासी मदन यादव व अंगद यादव के बीच पूर्व से जमीन विवाद चल रही थी। बुधवार की दोपहर अंगद यादव व उनके समर्थक मदन यादव व उनके परिजनों के पास पहुंचे और लाठियां चटकानी शुरू कर दी। तीनों को गंभीर चोट आई। जब मदन यादव व परिजनों ने विरोध शुरू किया। तभी अंगद यादव व उनके समर्थकों ने फायरिंग शुरू कर दी। जख्मी मदन यादव ने बताया कि करीब 17-18 राउंड गोलियां चलाई।

महदह पंचायत के उपसरपंच हरेराम पाठक का 18 वर्षिय पुत्र चंद्रकांत पाठक बक्सर अपने निजी काम से गया था। बक्सर से वह जीप पर सवार होकर अपने गांव लौटा। मुख्य बाजार में जीप से उतरने के बाद अपने घर की ओर चल पड़ा। मारपीट वाले स्थल से कुछ दूरी पर गुजर रहा था। तभी एक गोली उसके बाएं के जांघ के आ लगी। वह घटनास्थल पर ही गिर पड़ा। गोली लगते ही अंगद यादव व उनके समर्थक वहां से भाग निकले। स्थानीय ग्रामीणों ने तत्काल इसकी सूचना मुफस्सिल थाना को दी। मुफस्सिल थानाध्यक्ष दयानंद सिंह दलबल के साथ पहुंचे। स्थिति को काबू में लिया। घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया। प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए चंद्रकांत पाठक को रेफर कर दिया गया।

Click to listen..