--Advertisement--

शहर वाले चाह रहे रोज हो चुनाव

सरायकेला। सांझ ढलते ही घर से बाहर नजर नहीं आने वाले लोग भी अब माननीय बनने के चक्कर में रात 10:00 बजे तक जनता के साथ खड़े...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 03:20 AM IST
शहर वाले चाह रहे रोज हो चुनाव
सरायकेला। सांझ ढलते ही घर से बाहर नजर नहीं आने वाले लोग भी अब माननीय बनने के चक्कर में रात 10:00 बजे तक जनता के साथ खड़े दिखाई दे रहे हैं। इतना ही नहीं किसी भी मौके पर ऐसे संभावित माननीयों का साथ इन दिनों सरायकेला वासियों को भरपूर मिलने लगा है। मामला नगर पंचायत चुनाव से जुड़ा होने के कारण चर्चा भी आम बनी हुई है। पिछले 24 घंटे में 2 मामले सरायकेला में चर्चा में बने रहे। पहला मामला शनिवार की रात सड़क दुर्घटना में हुई एक स्थानीय युवक दिनेश मुंडा की मौत के बाद सदर अस्पताल में ऐसे सभी माननीय देर रात तक अपने-अपने खेमों में देखे गए। इसी क्रम में रविवार की सुबह उत्कल दिवस मनाते हुए आलम यह रहा कि पूरे साल माला विहीन रहने वाले पंडित गोपबंधु दास की सरायकेला स्थित एकमात्र प्रतिमा पर अपराह्न 11बजे के बाद माला पहनाने की जगह तक नहीं मिल रही थी। बहरहाल स्थानीय जनता इसे सरायकेला के विकास की दिशा में शुभ संकेत ही मान रही है। और दुआ कर रही है कि ऐसे चुनाव हर साल आते रहे।

X
शहर वाले चाह रहे रोज हो चुनाव
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..