Hindi News »Jharkhand »Saraikela» टीवीएस बाइक बनाने वाली विल्स इंडिया मुसाबनी में लगाएगी प्लांट, मिलेगा रोजगार

टीवीएस बाइक बनाने वाली विल्स इंडिया मुसाबनी में लगाएगी प्लांट, मिलेगा रोजगार

टीवीएस बाइक बनाने वाली विल्स इंडिया कंपनी टाटा मोटर्स के वाहनों के लिए पार्ट्स बनाएगी। कंपनी का प्लांट मुसाबनी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 28, 2018, 03:45 AM IST

टीवीएस बाइक बनाने वाली विल्स इंडिया कंपनी टाटा मोटर्स के वाहनों के लिए पार्ट्स बनाएगी। कंपनी का प्लांट मुसाबनी में लगेगा। यह जानकारी उद्योग विभाग के निदेशक के रवि कुमार ने पूर्वी सिंहभूम के डीसी अमित कुमार व सरायकेला-खरसावां के डीसी छवि रंजन के साथ अलग-अलग बैठक करने के बाद दैनिक भास्कर को दी। निदेशक के रवि कुमार ने कहा कि पूर्वी सिंहभूम के मुसाबनी के रूआम गांव में करीब 218 एकड़ भूमि है। इसमें से 110 एकड़ भूमि हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड यूनिट की स्थापना के लिए दी जाएगी। करीब 100 एकड़ जमीन वेयर हाउस निर्माण के उद्यमियों की दी जाएगी। निदेशक ने कहा कि विल्स इंडिया व एक्सल इंडिया की ओर से जमीन की मांग की जा रही है। इन दोनों औद्योगिक प्रतिष्ठान को मुसाबनी में प्लांट की स्थापना के लिए जमीन उपलब्ध कराई जाएगी। दोनों प्रतिष्ठान टाटा मोटर्स में बनने वाले वाहनों के लिए व्हील्स व एक्सल का निर्माण करेंगे।

जुस्को बिजली की क्षमता बढ़ाए : उद्योग विभाग

झारखंड सरकार के उद्योग विभाग औद्योगिक विकास के लिए बिजली आपूर्ति उपलब्ध कराने के लिए झारखंड राज्य विद्युत बोर्ड से ज्यादा भरोसा जुस्को पर कर रहा है। यही कारण है कि मंगलवार को टाटा स्टील परिसर में उद्योग निदेशक के रवि कुमार ने टाटा स्टील के उपाध्यक्ष सुनील भास्करन व जुस्को के एमडी आशीष माथुर के साथ बैठक की। आदित्यपुर ऑटो कलस्टर के समीप 238 एकड़ जमीन उपलब्ध है। यहां 16.70 करोड़ रुपए की लागत से सॉफ्टवेयर व टेक्नोलॉजी पार्क की स्थापना की जा रही है। इसके अलावा एसके बेहरा के आरएसव्ही ग्रुप द्वारा 400 बेड की क्षमता वाले अस्पताल का निर्माण किया जा रहा है। 99 करोड़ रुपए की लागत से 90 एकड़ भूमि पर इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग कलस्टर का निर्माण किया जाएगा। करीब 10 एकड़ मे आईटी पार्क व 10 एकड़ भूमि पर व्यावसायिक माल का निर्माण कराया जा रहा है। इन सभी उद्योग के लिए पावर की आ‌वश्यकता है। निदेशक ने टाटा स्टील के वीपी व जुस्को के एमडी से कहा कि औद्योगिक क्षेत्र में पावर की आपूर्ति का दायरा बढ़ाया जाए। भास्करन और माथुर ने कहा कि फिलहाल संसाधन की कमी है, इस कारण पावर सप्लाई का दायरा नहीं बढ़ाया जा सकता है। प्रशासन अगर पावर सब स्टेशन के निर्माण के लिए भूमि उपलब्ध कराता है तो जुस्को पावर सप्लाई का दायरा बढ़ा सकता है।

आठवें फेज के उद्यमियों की राशि होगी वापस

उद्योग निदेशक के साथ बैठक के बाद डीसी सह जियाडा के क्षेत्रीय निदेशक अमित कुमार ने पत्रकारों को बताया कि आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र के फेज आठ में जमीन के लिए कई उद्यमियों ने राशि जमा की थी। करीब नौ एकड़ भूमि उद्यमियों के बीच आवंटित की जानी थी, पर जमीन के अतिक्रमित होने के कारण उद्यमियों को जमीन नहीं दी जा सकी। जो उद्यमी अपनी जमा राशि वापस लेना चाहते है, उन्हें लौटा दी जाएगी। यदि सरकार की ओर से किसी अन्य स्थान पर औद्योगिक प्रतिष्ठान के लिए जमीन आवंटित की जाएगी तो आठवें फेज में जमीन नहीं पाने वाले उद्यमियों को प्राथमिकता दी जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Saraikela

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×