• Hindi News
  • Jharkhand
  • Saraikela
  • ग्रामीण व पुलिस के बीच बढ़ रहीं दूरियां, गिरफ्तार लोगों को छोड़ने की मांग को लेकर तीसरी बार कुचाई थाना घेरा
--Advertisement--

ग्रामीण व पुलिस के बीच बढ़ रहीं दूरियां, गिरफ्तार लोगों को छोड़ने की मांग को लेकर तीसरी बार कुचाई थाना घेरा

कुचाई थाना क्षेत्र में पुलिस प्रशासन एवं ग्रामीणों के बीच लगातार दूरियां बढ़ रही हैं। इस वर्ष तीन माह के अंदर...

Dainik Bhaskar

Apr 10, 2018, 02:45 AM IST
ग्रामीण व पुलिस के बीच बढ़ रहीं दूरियां, गिरफ्तार लोगों को छोड़ने की मांग को लेकर तीसरी बार कुचाई थाना घेरा
कुचाई थाना क्षेत्र में पुलिस प्रशासन एवं ग्रामीणों के बीच लगातार दूरियां बढ़ रही हैं। इस वर्ष तीन माह के अंदर तीसरी बार कुचाई थाने का घेराव हुआ है। नक्सली गतिविधि में शामिल होने के संदेह में हिरासत में लिए दो लोगों को छोड़ने की मांग पर 10 जनवरी को कुचाई थाना घेराव करने जा रहे आक्रोशित ग्रामीणों ने कुचाई थाना प्रभारी को घंटों बीच सड़क पर बैठाए रखा था। दूसरी बार दो व्यक्ति, एक महिला सहित बच्ची को हिरासत में लिए जाने के विरोध में तीन अप्रैल को लगभग साढ़े चार घंटे कुचाई थाना का घेराव किया था। सोमवार को पुनः आक्रोशित ग्रामीणों ने ढाई घंटा तक कुचाई थाना घेरे रखा। नक्सली गतिविधियों में शामिल होने के संदेह में हिरासत में लिये गए लोगों को छोड़ने एवं हार्डकोर नक्सली महाराज प्रमाणिक के पास हथियार पहुंचाने जा रहे पांच नक्सलियों की गिरफ्तारी के खिलाफ ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया। इस भीड़ में काफी संख्या में महिलाएं भी शामिल थीं। ग्रामीणों ने कुचाई थाना परिसर के मुख्य गेट के समीप खरसावां-कुचाई सड़क मार्ग को जाम कर दिया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। सड़क जाम व प्रदर्शन से आवाजाही पूरी तरह प्रभावित रही। थाना घेरने की सूचना पाकर दोपहर 2.30 बजे सरायकेला अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अविनाश कुमार के नेतृत्व में जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों से पुलिस के पदाधिकारी व जवान कुचाई पहुंचे और आक्रोशित ग्रामीणों को समझाते हुए उन्हें पीछे धकेल दिया। इस दौरान मौसम ने भी पुलिस का साथ दिया।

गिरफ्तारी से जुड़ी जानकारी लेने आए थे ग्रामीण : एसडीपीओ

एसडीपीओ अविनाश कुमार ने कहा कि नक्सली महाराज प्रमाणिक दस्ते को हथियार पहुंचाने जा रहे पांच नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया था। उसी से जुड़ी जानकारी लेने ग्रामीण आए थे। उन्हें जानकारी देकर वापस भेज दिया गया। इससे पहले भी नक्सली गतिविधियों में शामिल होने के संदेह पर कई लोगों को हिरासत में लिया गया था। पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया। पुलिस व ग्रामीणों के बीच बनी दूरी को कम करने के लिए जल्द ही पंचायत होगी।

छह सौ की संख्या में ग्रामीणों ने थाने को घेरा

कुचाई के पंपद व बडामाचा से रविवार को हार्डकोर नक्सली महाराज प्रमाणिक के दस्ते के पांच सदस्यों को पुलिस ने सर्च ऑपरेशन चला कर गिरफ्तार किया था। नक्सली बाइक और नैनो कार से प्रमाणिक को हथियार पहुंचाने जा रहे थे। उनके पास से एक पिस्तौल और दो जिंदा कारतूस, एक एयर पिस्टल, दो एयर गन, दस पैकेट एयरगन का पिलेट, तीन मोबाइल, एक मोटरसाइकिल, एक नैनो कार और कई सामान बरामद किए गए थे। गिरफ्तारी की सूचना पाकर रविवार को लगभग 160 की संख्या में आक्रोशित ग्रामीणों ने थाना घेरने के लिए कुचाई की अोर रुख किया था, लेकिन चप्पे चप्पे पर पुलिस की तैनाती को देखकर ग्रामीण वापस चले गए। पुनः सोमवार को दोपहर 12 बजे लगभग छह सौ की संख्या में ग्रामीणों ने कुचाई थाना को पारंपरिक हथियारों के साथ घेर लिया। हालांकि पुलिस की सक्रियता के कारण वे ज्यादा देर तक वहां टिक नहीं पाए।

कुचाई थाना में पहुचे एसडीपीओ अभिनाश कुमार, बीडीओ व अन्य।

ग्रामीणों की मांग









थाने के घेराव में इन पंचायतों के लोग थे शामिल

कुचाई प्रखंड के गोमियाडीह, बारूहातु, रिडिंग, छोटासेगोई, रूगुडीह, रोलाहातु एवं खरसावां प्रखंड के रिडिंग पंचायत सहित विभिन्न गांवों के ग्रामीण।

X
ग्रामीण व पुलिस के बीच बढ़ रहीं दूरियां, गिरफ्तार लोगों को छोड़ने की मांग को लेकर तीसरी बार कुचाई थाना घेरा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..