Hindi News »Jharkhand »Saraikela» रथयात्रा की बैठक मेंे गैरहाजिर बिजली पीएचईडी व आरसीडी विभाग को शो-काॅज

रथयात्रा की बैठक मेंे गैरहाजिर बिजली पीएचईडी व आरसीडी विभाग को शो-काॅज

भास्कर न्यूज | खरसावां/ सरायकेला खरसावां में महाप्रभु जगन्नाथ की रथयात्रा व जंताल पूजा को लेकर पूजा समिति की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 28, 2018, 03:20 AM IST

रथयात्रा की बैठक मेंे गैरहाजिर बिजली पीएचईडी व आरसीडी विभाग को शो-काॅज
भास्कर न्यूज | खरसावां/ सरायकेला

खरसावां में महाप्रभु जगन्नाथ की रथयात्रा व जंताल पूजा को लेकर पूजा समिति की बैठक खरसावां अंचल कार्यालय में की गई। अध्यक्षता करते हुए अंचल अधिकारी डांगुर कोराह ने बैठक में गैरहाजिर बिजली विभाग, पीएचईडी विभाग, आरसीडी विभाग को शो-काॅज किया। बैठक में निर्णय लिया गया कि पंचांग के अनुसार 14 जुलाई को महाप्रभु जगन्नाथ की रथयात्रा निकाली जाएगी। रथयात्रा की शुरुआत 28 जून से देवस्नान के साथ शुरू होगी। 23 जुलाई को प्रभु का नेत्र उत्सव, 14 जुलाई को प्रभु की रथयात्रा, 17 जुलाई 2018 को विपतारिणी व्रत, 18 जुलाई को हेरा पंचामी, 20 जुलाई को नवमी संध्या दर्शन तथा 22 जुलाई 2018 को बाहुडा रथयात्रा होगी। बैठक में पूजा समिति ने सर्वसम्मति से सरकारी रथयात्रा पर 54,500 खर्च करने का निर्णय लिया। वहीं अलग से रथ की मरम्मत और नए रथ के निर्माण के लिए जिला प्रशासन को प्रस्ताव भेजा। डीसी ने प्राक्कलन तैयार कर प्रस्ताव भेजने का आदेश दिया है। बैठक में कुडिंचा (मौसीबाडी) मंदिर का छावनी व रंग रोगन करने का प्रस्ताव पारित किया। इस वर्ष नेत्र उत्सव के पूजा अर्चना में 14 हजार, प्रसाद का खर्च 7500, संकीर्तन में 3000, लाइट व्यवस्था में 9 हजार और मौसीबाड़ी की पूजा-अर्चना में खर्च 20 हजार रखी गयी है।

14 जुलाई को महाप्रभु की रथयात्रा निकाली जाएगी

खरसावां की पूजा समिति की बैठक में उपस्थित अधिकारी।

गुडिचा मंदिर के पुजारी को 9 दिनों की पूजा के लिए 3 हजार मिलेंगे

गुडिचा मंदिर के पुजारी के 9 दिनों के पूजा-अर्चना के लिए 2 हजार से बढ़ाकर 3 हजार कर दिया गया। धुलिया जंताल पूचा 6 अगस्त को होगी। इस पर 15 हजार रुपये खर्च किया जायेगा। बैठक में रथयात्रा के दौरान अस्पताल खुला रखने, रथयात्रा के मार्ग पर बिजली तार खोलने, टेलीफोन तारों को हटाने, जगह-जगह सुरक्षा व्यवस्था के लिए जवानों की तैनाती करने, इसके अलावे प्रसाद की तैयारी, पूजा अर्चना व लाईटिंग व्यवस्था की जिम्मेदारी भी दी गई। इस दौरान बैठक में अंचल बडाबाबु सिदेश्वर पांडे, केपी षांड़ंगी, सुशील षांड़ंगी, राकेश दास, जीतवाहन मंडल, गोवर्धन राउत, नरसिंह चरण पति, मानिक सिंहदेव, पुजारी भिखारी चरण पंडा, मुखिया डा उमा शंकर प्रसाद आदि मौजूद थे।

देवस्नान पूर्णिमा पर आज महाप्रभु करेंगे महास्नान

सरायकेला|
जगन्नाथ धाम पुरी के तर्ज पर सरायकेला में मानी जाने वाली जगन्नाथ परंपरा एवं संस्कृति के तहत बृहस्पतिवार को देव स्नान पूर्णिमा का उत्सव मनाया जाएगा। इस अवसर पर देर शाम सरायकेला स्थित प्राचीन जगन्नाथ श्री मंदिर में देव स्नान पूर्णिमा का उत्सव मनाते हुए पूजन विधान के साथ महाप्रभु श्री जगन्नाथ को 108 सुगंधित एवं औषधीय कलसो के जल से स्नान कराया जाएगा। और भोग प्रसाद का चढ़ावा चढ़ाया जाएगा। इसे लेकर जगन्नाथ भक्तों द्वारा तैयारियां की जा रही हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Saraikela

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×