• Home
  • Jharkhand News
  • Saraikela
  • बदलते मौसम से बिगड़ रही लोगों की सेहत, हीट स्ट्रोक के मामले बढ़े
--Advertisement--

बदलते मौसम से बिगड़ रही लोगों की सेहत, हीट स्ट्रोक के मामले बढ़े

14 वर्षों बाद सरायकेला सहित आसपास के लोग एक विशेष मौसम का नजारा देख रहे हैं। जहां जेठ के महीने में जेठ के असर के...

Danik Bhaskar | May 07, 2018, 03:35 AM IST
14 वर्षों बाद सरायकेला सहित आसपास के लोग एक विशेष मौसम का नजारा देख रहे हैं। जहां जेठ के महीने में जेठ के असर के साथ-साथ सांझ आते-आते आषाढ़ के महीने का एहसास करा जा रहा है। इसे लेकर क्षेत्र में बढ़े भारी तापांतर के कारण बीमारियां भी बढ़ रही है। जानकारों के अनुसार इन दिनों क्षेत्र में चल रहे भूमध्यरेखीय क्षेत्र का जैसा मौसम स्वास्थ्य के लिए खतरनाक साबित हो रहा है। यही कारण है कि इन दिनों क्षेत्र में बढ़े हुए तापमान के कारण हीट स्ट्रोक के मामले में भी काफी वृद्धि देखी जा रही है। वही तापांतर के बढ़े होने के कारण अधिकांश जन हाजमा खराब होने की समस्या को लेकर स्थानीय अस्पतालों में पहुंच रहे हैं। बताते चलें कि हिट स्ट्रोक के बढ़े हुए मामले को देखते हुए सरायकेला स्थित सदर अस्पताल में उपचार की विशेष व्यवस्था की गई है। साथ ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस मामले में अलर्ट भी जारी किया गया है। ताकि ऐसे मामलों में प्रभावित व्यक्ति को तत्काल स्वास्थ्य सेवा पहुंचाई जा सके।

अस्पताल में बेड फूल, स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट

सदर अस्पताल के महिला वार्ड में भर्ती हिट स्ट्रोक के मरीज।

सदर अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ी

बताया जा रहा है कि इन दिनों सदर अस्पताल की ओपीडी में प्रतिदिन औसतन 150 से 180 मरीजों की चिकित्सकों द्वारा स्वास्थ्य जांच की जा रही है। जिसमें से अधिकांश पहुंच रहे हीट स्ट्रोक के एडमिट हो रहे हैं। जबकि आमतौर पर सीजनल फीवर और अपच जैसी समस्याओं के लिए दवाइयों के साथ चिकित्सकों द्वारा आवश्यक सुझाव दिया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार सदर अस्पताल सहित जिले के सभी सामुदायिक एवं प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों पर हीट स्ट्रोक से बचाव को लेकर पर्याप्त मात्रा में ग्लूकोज एवं जीवन रक्षक घोल ओआरएस के पैकेट उपलब्ध करा दिए गए हैं।


बीते 5 दिनों में क्षेत्र का बढ़ा हुआ तापांतर

दिवस अधिकतम न्यूनतम

बुधवार 39.4 20.2

गुरुवार 41.2 19.8

शुक्रवार 41.8 18.6

शनिवार 42.3 19.4

रविवार 42.8 19.6

दोपहर में घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह

भीषण गर्मी को देखते हुए दिन के समय बाहर कम निकले। जरूरीवश बाहर जाना हो तो शरीर को अच्छी तरह से ढककर जाएं। स्वच्छ पेयजल का भरपूर उपयोग पीने के लिए करें। गरिष्ठ और ज्यादा भोजन ना करें। खाली पेट में नहीं रहे। गर्मी के प्रभाव से असहज महसूस होने की स्थिति में तुरंत नजदीकी चिकित्सक से सलाह कर इलाज कराएं।