सरायकेला

  • Home
  • Jharkhand News
  • Saraikela
  • जिले में 525 बंद समर्थक गिरफ्तार, सबसे अधिक झाविमो, दूसरे झामुमो व तीसरे नंबर पर कांग्रेस रही
--Advertisement--

जिले में 525 बंद समर्थक गिरफ्तार, सबसे अधिक झाविमो, दूसरे झामुमो व तीसरे नंबर पर कांग्रेस रही

भूमि अधिग्रहण बिल के विरोध में विपक्षी दलों द्वारा आहूत बंदी असरदार रही ।जिला मुख्यालय सरायकेला एवं अन्य सभी...

Danik Bhaskar

Jul 06, 2018, 03:45 AM IST
भूमि अधिग्रहण बिल के विरोध में विपक्षी दलों द्वारा आहूत बंदी असरदार रही ।जिला मुख्यालय सरायकेला एवं अन्य सभी थाना क्षेत्रों से बंदी के दौरान आम लोगों को काफी परेशानी हुई। डोमिसाइल बंदी के बाद दूसरी बार अलग झारखंड में इस तरह की बंदी देखी गई जिसमें चाय एवं पान के लिए भी लोग तरसते रह गए। सरायकेला-खरसावां जिले के विभिन्न थाना क्षेत्र में बंदी के दौरान कुल 525 विपक्षी दलों के समर्थकों को गिरफ्तार किया गया। इसमें सर्वाधिक झारखंड विकास मोर्चा के समर्थक रहे। गिरफ्तारी देने में दूसरे नंबर पर झारखंड मुक्ति मोर्चा व तीसरे नंबर पर कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता रहे। इधर बंदी के मद्देनजर जिला पुलिस प्रशासन काफी सतर्क रही। किसी तरह की हिंसा एवं अनहोनी की खबर नहीं है। डीसी छवि रंजन एवं एसपी चंदन कुमार सिन्हा जिले के सभी थाना क्षेत्र का निरीक्षण कर बंदी का जायजा लिया। बंद के दौरान दुकानदारों से अपनी दुकान खोलने का आग्रह किया। पुलिस प्रशासन द्वारा व्यवसायियों को काफी प्रोटेक्शन दी गई थी। इसके बावजूद भी व्यवसाय अपनी दुकान और प्रतिष्ठान नहीं खोली। दिन भर सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। पुलिस प्रशासन भी मुस्तैद रहा। लोग अपने घरों में कैद रहे।

डीसी छवि रंजन व एसपी चंदन कुमार सिन्हा दिनभर करते रहे निरीक्षण

झाविमो जिला अध्यक्ष को गिरफ्तार कर ले जाती पुलिस।

विपक्षी दलों के इन नेताओं की गिरफ्तारी

झारखंड विकास मोर्चा के जिला अध्यक्ष शंभू मंडल अपने समर्थक प्रदीप सरकार, सुदेश मिश्रा, सानो दास, विनोद मंडल, राहुल नायक, जयनाथ कुंभकार व 25 कार्यकर्ताओं ने सरायकेला आदित्यपुर मुख्य सड़क पर नारा लगाने के क्रम में सरायकेला पुलिस ने उन्हें दबोच लिया। शाम तक सरायकेला थाना में बैठा कर रखा। झारखंड मुक्ति मोर्चा के नरेंद्र महतो, नारायण सेकसरिया ,बासुदेव महतो नंदी प्रधान, जन्नत हुसैन तथा 10 -12 कार्यकर्ताओं ने नगर में दुकानदारों को जबरन बंद कराने की कोशिश की, पुलिस वहां पहुंची तथा सभी झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर थाना ले आई। गम्हरिया थाना क्षेत्र में कांग्रेसी नेता फुलकांत झा एवं महिला कांग्रेस के जिला अध्यक्ष लखी कुमारी के नेतृत्व में झंडा बैनर लेकर सड़कों पर उतरे लगभग 50 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया।


सतर्क रहा जिला प्रशासन

जिला पुलिस प्रशासन द्वारा बंदी के मद्देनजर सभी सड़कों पर तथा चौराहों पर वीडियोग्राफी कराई जा रही थी। इससे बंद समर्थक खुलकर सामने नहीं आ पाए। जिला प्रशासन द्वारा बंदी के दौरान कंट्रोल रूम बनाए थे जिसमें किसी प्रकार की शिकायत भी नहीं पहुंची।

सरकारी कार्यालय खुले रहे, 19 गिरफ्तार

खरसावां| झारखंड सरकार के द्वारा पारित भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के खिलाफ महागठबंधन के द्वारा झारखंड बंद का असर खरसावां-कुचाई में देखने को मिला। विपक्ष के आह्वान पर भूमि अध्यादेश के विरोध में खरसावां, कुचाई, आमदा, बडाबाम्बो व दंलभंगा क्षेत्रों में लोगों ने स्वत: से ही दुकाने बंद रखीं। बंदी के दौरान खरसावां कुचाई की सड़कें विरान रही। वाहनों का पहिया थमा रहा। निजी वाहनों का छोड़कर कोई भी वाहन सड़क पर नहीं दिखे। सुबह से ही लोगों ने दुकानें बंद रखी। इस बंदी का असर खरसावां, कुचाई के प्रखंड व अंचल मुख्यालयों में नहीं दिखा।

इन्हें किया गया गिरफ्तार - विधायक दशरथ गागराई, कांग्रेस के जिला अध्यक्ष छोटराय किस्कू, जेवीएम जिला अध्यक्ष शंभू मंडल, पातर हेम्ब्रम, मांगीलाल महतो, अनुप सिंहदेव, प्रमेन्द्र कुमार मिश्रा, मो भुटो, बिकास बानरा आदि है।

सरकार जनभावना के साथ कर रही खिलावाड़-गागराई

खरसावां विधायक दशरथ गागराई ने कहा कि भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल को पारित कर सरकार जनभावना के साथ खिलावाड किया है। यह विधेयक आदिवासी मुलवासियों के खिलाफ है। कांग्रेस जिला अध्यक्ष छोटराय किस्कू ने कहा कि गरीब जनता की जमीन को लूटने नहीं दिया जाएगा।

मुस्तैद रही पुलिस, प्रशासन चौकस - बंदी को लेकर खरसावां, कुचाई, बडाबाम्बों, आमदा व दलभंगा क्षेत्र में पुलिस मुस्तैद रही। वही प्रशासन भी चैकस रहा। खरसावां में थाना प्रभारी नरसिंह मुंडा, सीओ डागुर कांराह मौजूद रहे।

Click to listen..