--Advertisement--

लोक अदालत में 1736 मामलों का निपटारा

झारखंड विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकार द्वारा जिला न्यायालय परिसर में...

Danik Bhaskar | Apr 23, 2018, 03:45 AM IST
झारखंड विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकार द्वारा जिला न्यायालय परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत लगाकर दोनों पक्षों के बीच परस्पर समझौते के आधार पर ऑन द स्पॉट कुल 1736 मामलों का निष्पादन किया गया। जिसमें बतौर समझौता राशि 38,05,529 रुपए प्राप्त किए गए। प्राधिकार के अध्यक्ष सह प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश शिव शरण दुबे की अध्यक्षता में लगाए गए उक्त राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 4 गठित बेंचों पर लाए गए मामलों का निष्पादन किया गया। जिसमें प्रथम बेंच पर स्वयं प्रधान एवं जिला सत्र न्यायाधीश ने अध्यक्षता करते हुए विवेकानंद बनर्जी एवं अधिवक्ता डी आर ज्योतिषी की उपस्थिति में मामले पर सुनवाई कर एमएसीटी के दो मामलों का निष्पादन किया। इसमें 367500 रुपए बतौर समझौता राशि प्राप्त की गयी। इसी प्रकार डीजे प्रथम आशीष सक्सेना की अध्यक्षता में गठित दूसरे बेंच पर आरएन त्रिवेदी एवं अधिवक्ता नैना पहाड़ी की उपस्थिति में बिजली के 14 और बैंक के 40 मामलों का निष्पादन किया गया। मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एनके विश्वकर्मा की अध्यक्षता में तीसरे बेंच पर जलेस कवि और अधिवक्ता निर्मल आचार्य की उपस्थिति में उत्पाद के 30, एफआरटी के 12 और बैंक के 45 मामलों का निष्पादन किया गया। अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी दुर्गेश चंद्र अवस्थी की अध्यक्षता में चौथे बेंच पर अनुमंडल न्यायिक दंडाधिकारी बी भगत कथा राम गोविंद मिश्रा की उपस्थिति में एमवी एक्ट के 38 मामलों का निष्पादन किया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत का संचालन प्राधिकार के सचिव कुलदीप ने किया। मौके पर न्यायालय प्रबंधक, न्यायालय के कर्मी, पैरालीगल वालंटियर्स सहित अन्य ने सराहनीय भूमिका निभाई।

लाभुकों को समझौता राशि का चेक देते न्यायिक पदाधिकारी।