Hindi News »Jharkhand »Saraikela» 300 हेक्टेयर भूमि पर लगे 8 लाख पौधों को संरक्षित करने का निर्णय

300 हेक्टेयर भूमि पर लगे 8 लाख पौधों को संरक्षित करने का निर्णय

वन पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग सरायकेला वन प्रमंडल के तत्ववाधान में रविवार को पृथ्वी दिवस 2018 मनाया गया। इस...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 23, 2018, 03:45 AM IST

300 हेक्टेयर भूमि पर लगे 8 लाख पौधों को संरक्षित करने का निर्णय
वन पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग सरायकेला वन प्रमंडल के तत्ववाधान में रविवार को पृथ्वी दिवस 2018 मनाया गया। इस अवसर पर जिले में 300 हेक्टेयर भूमि पर लगे 8 लाख पौधों को संरक्षित करने का निर्णय लिया गय। जिला वन एवं पर्यावरण संरक्षण पदाधिकारी ए एक्का की अध्यक्षता में संजय ग्राम स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय सरायकेला में नुक्कड़ नाटक कर विद्यालय की छात्राओं को पर्यावरण सुरक्षा के प्रति जागरुक किया गया। इस मौके पर वनरक्षी त्रिदेव महतो, श्रावंती दे, बबीता हो, अमित मार्डी, सुनील जारीका एवं दुखिया वास्के द्वारा नुक्कड़ नाटक का प्रदर्शन करते हुए पर्यावरण को प्लास्टिक प्रदूषण से मुक्त रखने का संदेश दिया गया। इस क्रम में जिला वन एवं पर्यावरण संरक्षण पदाधिकारी ने भी छात्राओं को संबोधित करते हुए अधिक से अधिक पौधे लगाकर उनका विकास करने और हरियाली बढ़ाने के संदेश दिया।

नाटक के माध्यम से छात्राओं को पर्यावरण संरक्षण का संदेश देते कलाकार।

जिले में हरियाली की दशा तकरीबन आदर्श स्थिति में है। इसे और अधिक बेहतर बनाए जाने के प्रयास विभाग द्वारा किए जा रहे हैं।- ए एक्का, जिला वन एवं पर्यावरण संरक्षण पदाधिकारी, सरायकेला वन प्रमंडल।

इस वर्ष सिल्वीकल्चर पर रहेगा मुख्य फोकस

जिले में हरियाली के विकास को लेकर जिला वन एवं पर्यावरण संरक्षण पदाधिकारी ने बताया कि इस वर्ष वन विभाग द्वारा सिल्वीकल्चर पर फोकस किया जाएगा। जिसके तहत बीते वर्ष लक्ष्य के अनुरूप जिले के 300 हेक्टेयर वन भूमि पर लगाए गए तकरीबन 8 लाख पौधों को संरक्षित करते हुए विकसित किया जाएगा। इसी क्रम में इस वर्ष आदित्यपुर टोल नाका के समीप नदी तट के साथ-साथ 5 किलोमीटर क्षेत्र में पौधरोपण करने की योजना है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Saraikela

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×