• Home
  • Jharkhand News
  • Saraikela
  • डोर स्टेप डिलीवरी के माध्यम से स्कूलों तक पहुंचेगा मध्याह्न भोजन का राशन
--Advertisement--

डोर स्टेप डिलीवरी के माध्यम से स्कूलों तक पहुंचेगा मध्याह्न भोजन का राशन

विद्यालय में संचालित मध्याह्न भोजन योजना के राशन के लिए अब शिक्षकों को गोदाम के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। स्कूली...

Danik Bhaskar | May 04, 2018, 04:05 AM IST
विद्यालय में संचालित मध्याह्न भोजन योजना के राशन के लिए अब शिक्षकों को गोदाम के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभागद्वारा इस संबंध में लिए गए निर्णय के आलोक में जिला सर्व शिक्षा अभियान विभाग और जिला आपूर्ति विभाग द्वारा संयुक्त रूप से कवायद शुरू कर दी गई है। चालू शैक्षणिक सत्र 2018 -19 के प्रथम त्रैमासिक अप्रैल-जून से डोर स्टेप डिलीवरी योजना के तहत राशन की आपूर्ति होगी। इस संबंध में जिला शिक्षा अधीक्षक फुलमनी खलखो ने आवश्यक निर्देश जारी किया है। इसके तहत उन्होंने कहा है कि राज्य खाद्य एवं असैनिक आपूर्ति निगम लिमिटेड के गोदाम से विद्यालय तक मध्याह्न भोजन का खाद्यान्न का परिवहन जिले में कार्यरत अभिकर्ताओं द्वारा डोर स्टेप डिलीवरी के माध्यम से किया जाएगा। उन्होंने सभी प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारियों के मोबाइल नंबर एवं कार्यालय नंबर जारी करते हुए कहा है कि प्रखंड के गोदाम से विद्यालय तक परिवहन व्यय के लिए स्वीकृत दर प्रति क्विंटल संपूर्ण प्रखंड क्षेत्र के अनुसार दिया जाएगा। विद्यालय तक खाद्यान्न आपूर्ति के बाद प्राप्ति पर्ची के साथ परिवहन अभिकर्ता का व्यय विपत्र प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी के माध्यम से जिला शिक्षा अधीक्षक कार्यालय को उपलब्ध कराया जाएगा।

जिस स्कूल में विलय होगा उसे अतिरिक्त राशि मिलेगी

सरकारी प्रारंभिक स्कूलों के विलय प्रक्रिया जारी है। संपति और दस्तावेजों को बंद होने वाले स्कूलों के प्रधानाध्यापक कागजात बनाकर विलय होने वाले स्कूलों के प्रधानाध्यापकों को सौंप रहे हैं। वहीं कुछ जगहों पर विलय को लेकर हो रहे विरोध भी हो रहा है। इसी दौरान जिला शिक्षा अधीक्षक कार्यालय ने विलय की प्रक्रिया को जारी रखने का निर्देश जारी किया है। हर हाल में इस प्रक्रिया को पूरा करने को कहा गया है। जिन स्कूलों में दूसरे स्कूलों का विलय किया जा रहा है। उन्हें छात्र संघ के आधार पर अतिरिक्त बजट दिया जाएगा। ।