• Home
  • Jharkhand News
  • Saraikela
  • ई-कोर्ट से अब मोबाइल पर जान सकेंगे अपने केस की तारीख
--Advertisement--

ई-कोर्ट से अब मोबाइल पर जान सकेंगे अपने केस की तारीख

संबंधित अधिवक्ता व पार्टी को अपने केस से संबंधित अपडेट अब घर बैठे मोबाइल पर एसएमएस व मेल पर मिल सकेगी। कोर्ट में...

Danik Bhaskar | Jun 08, 2018, 04:15 AM IST
संबंधित अधिवक्ता व पार्टी को अपने केस से संबंधित अपडेट अब घर बैठे मोबाइल पर एसएमएस व मेल पर मिल सकेगी। कोर्ट में केस की डेट पड़ते ही इसकी सूचना तुरंत संबंधित अधिवक्ता व पार्टी को मोबाइल पर प्राप्त हो जाएगी। इससे संबंधित केस इंफॉर्मेशन सिस्टम के न्यू वर्जन एनसी-3.0 की लॉन्चिंग गुरुवार को प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश शिव शरण दुबे ने की। जिला व्यवहार न्यायालय स्थित ई फाइलिंग सेंटर से उक्त एप की लॉन्चिंग करते हुए प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने कहा कि इससे न्यायालय कार्यों में पारदर्शिता के साथ तेजी आएगी। इसका लाभ संबंधित अधिवक्ता और पार्टी को मिलेगा। साथ ही वर्क लोड भी कम होगा। इस अवसर पर डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन प्रेसिडेंट विश्वनाथ रथ सहित न्यायिक पदाधिकारी एवं अधिवक्तागण उपस्थित रहे।

केस इंफॉर्मेशन सिस्टम के न्यू वर्जन एनसी-3.0 की लॉन्चिंग करते न्यायाधिश।

ई-कोर्ट प्रोजेक्ट के तहत लोगों को मिलेगा फायदा

लॉन्च किए गए न्यू वर्जन के नए सॉफ्टवेयर के तहत न्यायालय का डेट पड़ते ही पार्टी व वकील को एसएमएस व मेल के माध्यम से जानकारी मिल सकेगी। पुराने वर्जन में दिल्ली से उक्त सूचना प्राप्त होने के कारण देर होती थी। ई-फाइलिंग सिस्टम के तहत वकील और पार्टी घर बैठे ऑनलाइन अपने केस की पोजीशन और स्टेटस जान सकेंगे। साथ ही सॉफ्ट कॉपी में फाइलिंग करते हुए कोर्ट फीस भी ऑनलाइन जमा कर सकेंगे। इसके अलावा ई-फाइलिंग पर सेंटर से मिलने वाली रसीद पर क्यूआर कोड जनरेट होगा। इसे मोबाइल पर क्यू आर कोड स्कैनर से स्कैन करते ही केस की स्टेटस की जानकारी प्राप्त हो सकेगी।

स्क्रीन बोर्ड पर जान सकेंगे सुनवाई की स्थिति

अब प्रत्येक कोर्ट के सामने मेन गेट के ऊपर एक लाइव स्क्रीन बोर्ड होगा। जिस पर कोर्ट में सुने जा रहे मामले सहित सुने जाने वाले मामले को डिस्प्ले बोर्ड पर लाइव प्रदर्शित किया जाएगा। ई-कोर्ट प्रोजेक्ट के तहत ई फाइलिंग सेंटर में क्योक्स सिस्टम मशीन संचालित की जा रही है। जिसमें केस संबंधी जानकारी फीड कर संबंधित केस का स्टेटस जाना जा सकता है।

वर्क लोड कम होगा