सरायकेला

  • Hindi News
  • Jharkhand News
  • Saraikela
  • बच्चों व अभिभावकों को भड़का रहे थे कुछ लोग; पहुंचे सीएस, खुद खिलाई दवा
--Advertisement--

बच्चों व अभिभावकों को भड़का रहे थे कुछ लोग; पहुंचे सीएस, खुद खिलाई दवा

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर स्कूली बच्चों को कृमिनाशक दवाई एल्बेंडाजोल नहीं खाने को लेकर कुछ लोग गलत तर्क देते...

Dainik Bhaskar

Aug 11, 2018, 04:16 AM IST
बच्चों व अभिभावकों को भड़का रहे थे कुछ लोग; पहुंचे सीएस, खुद खिलाई दवा
राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर स्कूली बच्चों को कृमिनाशक दवाई एल्बेंडाजोल नहीं खाने को लेकर कुछ लोग गलत तर्क देते हुए बच्चों व अभिभावकों को भड़का रहे थे। इसकी सूचना के बाद सिविल सर्जन डॉ प्रियरंजन तत्काल चांडिल के कपाली व तमोलिया क्षेत्र पहुंचे। इस दौरान उपाधीक्षक डॉ मंजू दुबे व जिला कार्यक्रम समन्वयक दिलीप कुमार के साथ उन्होंने अभिभावकों के साथ बैठक कर दी जा रही कृमिनाशक दवा एल्बेंडाजोल के सेवन के प्रति जागरूक किया। साथ ही कृमि से होने वाली स्वास्थ्य हानि के विषय में भी जानकारी दी। इसके बाद उन्होंने स्वयं से बच्चों को एल्बेंडाजोल की टैबलेट का सेवन कराते हुए कहा कि यह पूरी तरह से सुरक्षित है। इस दौरान क्षेत्र के 2 विद्यालयों में बच्चों एवं अभिभावकों को जागरुक करते हुए अभियान को तेज किया। उन्होंने बताया कि कुछ लोगों द्वारा कृमिनाशक दवा एल्बेंडाजोल के सेवन सहित मीजल्स एंड रूबेला वैक्सीनेशन कैंपेन के दौरान भी लोगों को कुतर्क देते हुए भड़काया जा रहा है। इसके बावजूद भी विभाग एवं प्रशासन द्वारा चलाए जा रहे जागरूकता कार्यक्रम का प्रभाव है कि लोग अभियान से जुड़ रहे हैं। और जिले का प्रतिशत नतीजा भी राज्य में सबसे बेहतर बना हुआ है। उन्होंने बताया कि मीजल्स एंड रूबेला की वैक्सीन एवं कृमिनाशक दवा एल्बेंडाजोल पूरी तरह से सुरक्षित और अपने अपने स्वास्थ्यप्रद कार्य करने के लिए आवश्यक है।

ग्रामीणों के साथ बातचीत करते सिविल सर्जन।

X
बच्चों व अभिभावकों को भड़का रहे थे कुछ लोग; पहुंचे सीएस, खुद खिलाई दवा
Click to listen..