Hindi News »Jharkhand »Tamar» लखीसराय: बेटे की बीमारी से मौत, अगले दिन नदी किनारे मिली पिता की लाश

लखीसराय: बेटे की बीमारी से मौत, अगले दिन नदी किनारे मिली पिता की लाश

भास्कर न्यूज| लखीसराय/ चानन चानन थाना क्षेत्र के मलिया गांव में रविवार की सुबह कारू बिंद (42) का शव किऊल नदी के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:20 AM IST

लखीसराय: बेटे की बीमारी से मौत, अगले दिन नदी किनारे मिली पिता की लाश
भास्कर न्यूज| लखीसराय/ चानन

चानन थाना क्षेत्र के मलिया गांव में रविवार की सुबह कारू बिंद (42) का शव किऊल नदी के किनारे मिला। सूचना पर पुलिस पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। पुलिस ने यूडी केस दर्ज किया है। लेकिन ग्रामीणों में कारू की मौत को लेकर कई तरह की चर्चाएं हैं। इधर मृतक की प|ी कुछ बोलने की स्थिति में नहीं है। पंचायत के मुखिया डब्लू पासवान एवं रामस्नेही पासवान ने बताया कि शनिवार को कारू बिंद के चार माह के पुत्र की बीमारी से मौत हो गई थी। परिवार के सदस्य बच्चे के शव को नदी में दफन कर लौटे।

कारू बिंद घर में ही था। शाम में वह बाहर निकला था। देर रात तक घर नहीं लौटने पर परिजनों ने खोजबीन की, लेकिन कुछ पता नहीं चला। रविवार की सुबह उसका शव नदी में मिला।

आईटीआई छात्र का पेड़ से लटका मिला शव, 20 अप्रैल को थी शादी

चिरैया (मोतिहारी) | मिश्रौलिया गांव के आम के बगीचा में पेड़ से लटका एक युवक का शव मिला। पुलिस ने रविवार की अहले सुबह शव को बरामद किया है। मृतक युवक घोड़ासहन थाना क्षेत्र के लक्ष्मीपुर लौखान गांव निवासी रामएकबाल प्रसाद के पुत्र विकास कुमार के रूप में पहचान हुई है। शव के पास से एक सुपर स्पलेंडर बाइक चाबी के साथ मिली है। पुलिस ने मृतक के पाॅकेट से आधार कार्ड, एसबीआई के एटीएम कार्ड सहित अन्य कागजात को जब्त किया है। इस मामले में मृतक के चाचा प्रभुनारायण प्रसाद ने अज्ञात अपराधियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराते हुए कहा है कि मेरा भतीजा शनिवार को मोतिहारी जाने के लिए कहकर घर से निकला और शाम तक घर नहीं पहुंचने पर अगल-बगल में खोजबीन भी की गई, लेकिन नहीं मिला।

रविवार की सुबह पुलिस के माध्यम से घर पर सूचना दी गई। मृतक के चाचा ने बताया कि अपराधियाें ने कहीं और हत्या कर साक्ष्य छुपाने को गले में गमछा बांध पेड़ से लटका दिया।

लापता तीन छात्रों को 24 घंटे बाद खोजने निकली पुलिस तो मिला कपड़ा, भड़के लोग

पटना/फुलवारीशरीफ | पीएमसीएच से लापता अलकापुरी के तीन छात्रों को खोजने में पुलिस की लापरवाही से आक्रोशित परिजनों व स्थानीय लोगों ने रविवार को न्यू बाइपास पर हंगामा किया। लोगों ने आगजनी कर तकरीबन चार घंटे तक बाइपास को जाम रखा। इस दौरान अनीसाबाद से पटना सिटी तक भीषण जाम लग गया। जाम का असर गांधी सेतु तक देखने को मिला। कई बार पुलिस और लोगों के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई। डीएसपी सचिवालय ने लोगों को समझा-बुझाकर मनाया और परिजनों को एसएसपी ऑफिस ले गए। एसएसपी मनु महाराज ने परिजनों को आश्वस्त किया कि 48 घंटे के अंदर लापता छात्रों को पता लगा लिया जाएगा।

साईंदीप शनिवार को अपने दादा को देखने अपने दोस्तों विक्की और राहुल के साथ आईजीआईसी गया था। शनिवार को 3 बजे उनके परिजनों ने पुलिस को सूचना दी कि उनके बच्चे पीएमसीएच में बाइक खड़ी कर तकरीबन 11 बजे गंगा नहाने गए थे। उनका पता नहीं चल रहा है। लापरवाही का आलम यह है कि एसडीआरएएफ की टीम रविवार को दिन के लगभग 11 बजे से गंगा में लापता छात्रों को खोजना शुरू किया। इससे पहले परिजन लगातार थाने और पुलिस अधिकारियों से गुहार लगाते रहे, लेकिन किसी ने गंभीरता से नहीं लिया। दोपहर के समय पुलिस ने परिजनों को बताया कि लापता लड़कों का कपड़ा गंगा किनारे मिला है।

इससे परिजन और स्थानीय लोग भड़क गए और न्यू बाइपास को जाम कर दिया। इस दौरान गर्दनीबाग, रामकृष्णनगर व बेउर कंकड़बाग थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। लोग मौके पर एसएसपी को बुलाने की मांग कर रहे थे। बाद में डीएसपी सचिवालय ने लोगों को समझा बुझाकर मनाया और परिजनों को एसएसपी ऑफिस ले गए। एसएसपी ने परिजनों को आश्वस्त किया कि 48 घंटे के अंदर लापता छात्रों को पता लगा लिया जाएगा।

सिर्फ वही नकारात्मक खबरें, जो अापको जानना जरूरी हैं।

पुलिस बोली-कारू बिंद ने की है आत्महत्या

पुलिस कारू बिंद की मौत को आत्महत्या बता रही है। पुलिस का कहना है कि कारू बिंद ने पुत्र की मौत के बाद सदमे में आकर अात्महत्या की। पुलिस के भय से ग्रामीणों ने शव काे किऊल नदी में फेंक दिया। यूडी केस दर्ज कर पीएम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

दुकान बंदकर घर जा रहे स्वर्ण व्यवसायी को मारी दो गोली, मौत

बक्सर | रविवार की शाम करीब 6 बजे दुकान बंदकर घर जा रहे स्वर्ण व्यवसायी को भभुअर नहर मार्ग पर अपराधियों ने पेट व कमर में गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद अपराधी नहर के रास्ते आराम से भाग निकले। मृतक मुफस्सिल थाना अंतर्गत जगदीशपुर गांव के रालोसपा नेता का भाई विक्रम मौर्य है। भाई की मौत की खबर सुनते ही रालोसपा नेता के नेतृत्व में लोगों ने शहर के ज्योति चौक को आगजनी करते हुए जाम कर दिया। मामले को शांत कराने पहुंची पुलिस को भी विरोध का सामना करना पड़ा। पुलिस मुर्दाबाद के भी खूब नारे लग रहे थे। लोग अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। मौके पर पहुंचे डीएसपी शैशव यादव काफी समझाने का प्रयास कर रहे थे लेकिन वे मानने को तैयार नहीं थे।



पूर्व की घटनाओं से सबक लेते हुए पुलिस फूंक-फूंक कर कदम उठा रही थी।

बाइक से साथ चलते हुए मार दी पेट में कमर में गोली

विक्रम मौर्य सिकरौल थाना क्षेत्र के दीवान के बड़का गांव में सोनारी की दुकान चलाता था। राेज की तरह रविवार की शाम में दुकान बंदकर बाइक से नहर के रास्ते अपने गांव जगदीशपुर जा रहा था। तभी पहले से घात लगाए बाइक सवार अपराधियों ने साथ चलते हुए उसके पेट व कमर में दो गोली मार दी। नहर मार्ग थोड़ा सुनसान हाेने के कारण उसे तुरंत इलाज के लिए अस्पताल नहीं ले जाया जा सका। कुछ देर तक वह तड़पता रहा। तभी कुछ राहगीरों ने उसे देखा तो तत्काल अस्पताल पहुंचाया। प्राथमिक उपचार के बाद उसे पटना रेफर कर दिया गया। परिजन एम्बुलेंस से अभी अस्पताल से निकले ही थे की उसने दम तोड़ दिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Tamar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×