Hindi News »Jharkhand »Tamar» इंफ्रा से फूड जाेन तक कमाई करने और बढ़ाने के मौके

इंफ्रा से फूड जाेन तक कमाई करने और बढ़ाने के मौके

250 करोड़ सालाना टर्नओवर वाली छोटी कंपनियों के लिए इनकम टैक्स को घटाकर 25% करना। मुद्रा स्कीम में राशि और मध्यम एवं लघु...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 03:35 AM IST

250 करोड़ सालाना टर्नओवर वाली छोटी कंपनियों के लिए इनकम टैक्स को घटाकर 25% करना। मुद्रा स्कीम में राशि और मध्यम एवं लघु उद्योगों के लिए आर्थिक मदद बढ़ाना। नए कर्मचारियों के ईपीएफ में सरकार द्वारा 12% फंडिंग। इनसे ऐसे उद्योगों में निवेश और इनकी क्षमता बढ़ने की उम्मीद है।

इससे मध्यम एवं लघु उद्योगों से जुड़े रोजगार में इस साल 5% इजाफे के आसार हैं। फिलहाल यह करीब 12.5 करोड़ लोगों के लिए रोजगार का जरिया है।

इसी तरह 12 मेगा फूड पार्क की स्थापना से 95 हजार लोगों को रोजगार देने का दावा सरकार खुद कर रही है। कोल्ड चेन के 101 प्रोजेक्ट प्रत्यक्ष तौर पर 12 हजार और अप्रत्यक्ष रूप से 63 हजार रोजगार दे सकते हैं। वहीं स्वच्छ भारत मिशन के तरह प्रस्तावित 1.88 करोड़ टॉयलेट्स के लिए 16.92 करोड़ कार्यदिवस की जरूरत होगी।

सस्ते मकान, रोड तथा एयरपोर्ट से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स की वजह से इस क्षेत्र में रोजगार में करीब 10 फीसदी तक और इजाफा देखा जा सकता है।

इन सेक्टर्स पर फोकस से बेहतर रिटर्न और जॉब बढ़ने की उम्मीद

ऐसे बढ़ेगी आमदनी

रोड, सीमेंट, कैपिटल गुड्स में खरीदारी का रुख

सरकार ने बजट में ग्रामीण अर्थव्यवस्था सुधारने के लिए बड़े कदम उठाए हैं। इस वजह से आने वाले समय में रोड, सीमेंट, कैपिटल गुड्स हेल्थकेयर और एविएशन से जुड़े सेक्टर में डिमांड और उत्पादन बढ़ेगा। ऐसे में यह निवेश का एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है।

बजट में रेलवे और रोड के लिए करीब 9.46 लाख करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। इनके अलावा ग्रामीण विकास से जुड़ी बड़ी घोषणाएं भी इसमें शामिल हैं। इस वजह से इंफ्रास्ट्रक्चर और उससे जुड़े सेक्टर के अलावा फर्टिलाइजर, एफएमसीजी और ऑटो सेक्टर में खरीदारी का रुख देखने को मिल सकता है।

इन घोषणाओं से इन सेक्टर्स में शेयरों की खरीदारी का रुख देखने को मिल सकता है। बजट में हाउसिंग सेक्टर के लिए की गई महत्वपूर्ण घोषणाओं से रियल एस्टेट और इससे जुड़े टाइल्स, सीमेंट और हाउसिंग फाइनेंस जैसे शेयरों में खरीदारी का रुख देखा जा सकता है।

एक्सपर्ट : सोनल अरोरा, वाइस प्रेसीडेंट, टीमलीज़। स्रोत : स्वास्तिका इन्वेस्टमार्ट

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Tamar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×