• Home
  • Jharkhand News
  • Tamar
  • चांडिल से बर्थडे पार्टी से लौट रहे 4 युवकों की सड़क हादसे में मौत
--Advertisement--

चांडिल से बर्थडे पार्टी से लौट रहे 4 युवकों की सड़क हादसे में मौत

सिदगोड़ा 10 नंबर बस्ती से एनएच पर बर्थडे पार्टी मनाने गए चार युवकों की चांडिल थाना अंतर्गत फदलोगोड़ा में सड़क...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:55 AM IST
सिदगोड़ा 10 नंबर बस्ती से एनएच पर बर्थडे पार्टी मनाने गए चार युवकों की चांडिल थाना अंतर्गत फदलोगोड़ा में सड़क हादसे में मौत हो गई, जबकि उनका एक साथी घायल हो गया। घायल का टीएमएच में इलाज चल रहा है। सभी मारुति स्विफ्ट (जेएच05बीबी-8511) में सवार थे। कार चालक सिदगोड़ा 10 नंबर बस्ती पदमा रोड निवासी गुरमीत सिंह उर्फ विक्की की स्थिति गंभीर बनी हुई है। मृतकों में अविनाश कुमार सिंह उर्फ कल्लू (24 वर्ष),अंकित सिंह (19 वर्ष), शिवा सिंह (24 वर्ष) और रवींदर सिंह उर्फ रोमी (23 वर्ष) शामिल हैं। कार में सवार युवकों ने अपने परिजनों से अंकित सिंह की बर्थ-डे पार्टी में जाने की बात तो कही थी, लेकिन किसी ने अपने घर में एनएच जाने की बात नहीं बताई थी। मंगलवार देर रात चांडिल की ओर से बर्थ डे पार्टी मना कर लौटने के क्रम में कार पारडीह काली मंदिर से पहले फदलोगोड़ा में सड़क किनारे खड़े टैंकर से टकरा गई। इसके बाद कार को पीछे से आ रहे हाइवा ने धक्का मार दिया। इस हादसे में घटनास्थल पर ही चार युवकों की मौत हो गई, जबकि कार चला रहा गुरमीत सिंह को गंभीर रूप से घायल हो गया।

मौके पर पहुंची चांडिल पुलिस ने पांचों युवकों को एमजीएम अस्पताल पहुंचाया। वहां डॉक्टर ने अविनाश,अंकित, शिवा और रवींदर सिंह को मृत घोषित कर दिया, जबकि गुरमीत को बेहतर इलाज के लिए टीएमएच रेफर कर दिया।

पुलिस ने रात करीब दो बजे पांचों युवकों के परिजनों को घटना की सूचना दी। इसके बाद परिजन अस्पताल पहुंचे। बुधवार को पुलिस ने चारों शव का पोस्टमार्टम करा कर घरवालों को सौंप दिया।

अंकित की बहन से तय है गुरमीत की शादी

सिदगोड़ा पद्मा रोड निवासी गुरमीत सिंह उर्फ विक्की मंगलवार देर शाम सीतारामडेरा में रहने वाले हनी की कार लेकर आया था। कार गुरमीत ही चला रहा था। उसकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। गुरमीत ट्रांसपोर्ट में काम करता है। 10 मई को उसकी शादी अंकित की बहन से तय हुई थी।

होली बाद नौकरी ज्वाइन करने वाला था रवींदर

रवींंदर सिंह के पिता राजेंदर सिंह ने बताया कि वे टेंपो चलाकर परिवार चलाते हैं। उनके दो बेटों में रवींदर छोटा बेटा था। उसने आईटीआई की पढ़ाई की थी। इसके बाद वह नौकरी की तलाश में था। टिनप्लेट और आरआईटी क्षेत्र में एक कंपनी में उसने नौकरी के लिए आवेदन दिया था। होली के बाद उसे नौकरी ज्वाइन करनी थी।

चार भाई-बहनों में सबसे बड़ा था अंकित

अंकित सिंह के पिता सरबजीत सिंह क्रेन ऑपरेटर हैं। सरबजीत सिंह की चार संतान (दो बेटा-दो बेटी) में अंकित सबसे बड़ा था। अंकित के बहन की शादी गुरमीत सिंह उर्फ विक्की से तय हुई थी। मई में शादी होनी थी। अंकित काफी होनहार लड़का था।

शहर में अकेले रहता था मुजफ्फरपुर का अविनाश

कार हादसे में मृत 10 नंबर बस्ती सुखिया रोड निवासी अविनाश कुमार सिंह मूल रूप से बिहार के मुजफ्फरपुर के सरैया का रहने वाला था। उसके पिता टिनप्लेट कंपनी से वीआरएस लेने के बाद मुजफ्फरपुर चले गए। अविनाश यहीं रह गया था।

3 शवों का एक ही साथ अंतिम संस्कार

पोस्टमार्टम होने के बाद रवींदर सिंह, अंकित सिंह और शिवा सिंह के शव परिजन घर ले गए, जबकि अविनाश का शव पोस्टमार्टम हाउस में रखा गया है। देर शाम रवींद्र, अंकित और शिवा का अंतिम संस्कार किया गया।