--Advertisement--

एक सप्ताह के अंदर विस्थापन प्रमाण पत्र दें : डीसी

अनुमंडल कार्यालय तेनुघाट में उपायुक्त मृत्युंजय कुमार वर्णवाल की उपस्थिति में सीसीएल के विस्थापन एवं पुनर्वास...

Dainik Bhaskar

Jun 30, 2018, 04:05 AM IST
एक सप्ताह के अंदर विस्थापन प्रमाण पत्र दें : डीसी
अनुमंडल कार्यालय तेनुघाट में उपायुक्त मृत्युंजय कुमार वर्णवाल की उपस्थिति में सीसीएल के विस्थापन एवं पुनर्वास समस्याओं को लेकर बैठक की गई। इसमें जिला प्रशासन, सीसीएल के प्रबंधक एवं स्थानीय ग्रामीण व विस्थापित नेता मौजूद थे। यहां उपायुक्त वर्णवाल ने सीसीएल के प्रबंधकों से कहा कि जितने भी स्थानीय लोगों को विस्थापित किया गया है, उनकी जमीन का सत्यापन कराकर विस्थापन प्रमाण पत्र एक सप्ताह के अंदर उपलब्ध कराएं। ताकि स्थानीय स्तर पर उनका जाति, आवासीय एवं आय प्रमाण पत्र बन सके। उपायुक्त ने ग्रामीणों से कहा कि विस्थापन एवं पुनर्वास से संबंधित जितने भी मामले हैं उसका आवेदन बेरमो एसडीओ को एक सप्ताह के अंदर दें। ताकि जिला प्रशासन आगे की कार्रवाई कर सके। उन्होंने सीसीएल क्षेत्र में अवैध रूप से कब्जा कर रह रहे लोगों को भी सीसीएल प्रबंधन के सहयोग से कब्जा मुक्त करने का निर्देश एसडीओ को दिया।

यहां सीसीएल बीएंडके के कारो, वैधकारो, बरुवाबेड़ा, ढोरी क्षेत्र के अमलो, पूरनाटांड़ बांधटोला, बोकारो कोलियरी माइंस, कथारा के बांध बस्ती आदि की समस्याओं पर चर्चा करते हुए सीसीएल प्रबंधन को विस्थापितों को प्रावधान के अनुसार पुनर्वासित करने का निर्देश डीसी ने दिया। उन्होंने विस्थापितों की समस्याओं को एक महीने के अंदर समाधान कर यथासंभव कम करने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने कहा कि 01 अगस्त को फिर से विस्थापितों की समस्याओं के निराकरण पर हुई प्रगति की समीक्षा बैठक की जाएगी।

बैठक के दौरान उपस्थित पूर्व मंत्री लालचंद महतो ने विस्थापितों की समस्याओं से उपायुक्त को अवगत कराया। उपायुक्त ने बारी-बारी से सबकी समस्याओं को सुनकर यथोचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। बैठक में डुमरी विधायक जगरनाथ महतो, पूर्व मंत्री लालचंद महतो, अपर समाहर्ता जुगनू मिंज, बेरमो एसडीओ प्रेम रंजन, भूमि सुधार उप समाहर्ता जेम्स सुरीन थे।

विस्थापन और पुनर्वास से जुड़े मामलों का अविलंब करें निष्पादन

विस्थापन और पुनर्वास को लेकर बैठक करते बोकारो डीसी।

मद्रासी मंदिर के पास चाहते हैं पुनर्वास

यहां पूर्व मंत्री लालचंद महतो ने समस्या उठाते हुए कहा कि कारो परियोजना के 360 विस्थापित परिवारों में से 257 लोग मद्रासी मंदिर के ऊपरी छोर पर पुनर्वास चाहते हैं। जहां सडक, पानी, बिजली, मंदिर, स्कूल आदि हो। यहां 18 वर्ष से ज्यादा के युवकों को परिवार मानते हुए 5-5 डिसमिल जमीन दी जाए। इसपर डीसी ने सीसीएल प्रबंधन को स्थल निरीक्षण कर पहल करने को कहा। प्रबंधन ने कहा कि इसके लिए 35.40 एकड़ भूमि की आवश्यकता है। इसलिए तीन स्थल का निरीक्षण किए हैं।

अमलो परियोजना पर भी हुई चर्चा

ढोरी प्रक्षेत्र के अमलो पुरना टांड़ माइंस के विस्तारीकरण हेतु अमलो गांव को अन्यत्र शिफ्ट करने के संबंध में प्रबंधन ने कहा कि 48 परिवार का मामला है। जिनमें 18 सीसीएल कर्मी हैं।

कोनार-खासमहल का निदान नहीं निकला | प्रबंधन ने कहा कि कोनार- खासमहल परियोजना के विस्तारीकरण हेतु बरुआबेड़ा गांव के फेज 2, बोकारो थर्मल एरिया में शिफ्ट किए जाने की बात कही गई। जहां कुल परिवार की संख्या 400 है। सभी परिवार शिफ्ट होने को तैयार हैं। 70 परिवार ने सहमति दी है। शेष परिवार से सहमति लिए जाने का प्रयास हो रहा है। कुछ परिवार अपनी विवाहित पुत्रियों को भी परिवार में दिखाकर जमीन एवं मकान की मांग कर रहे हैं। प्रबंधन इसके लिए तैयार नहीं है।

कुरपनिया बाजार से ट्रांसपोर्टिंग रोकने की मांग की

तेनुघाट |
पूर्व मंत्री लालचंद महतो ने तेनुघाट में उपायुक्त के साथ हुई बैठक में कुरपनिया व संडेबाजार आबादी वाले क्षेत्र से की जा रही कोयला व छाई ट्रांसपोर्टिंग रोकने की मांग की। इस पर सीसीएल बीएंडके एरिया प्रबंधक ने कहा कि बरसात के बाद बेहतर वैकल्पिक सड़क का निर्माण कराया जाएगा।

X
एक सप्ताह के अंदर विस्थापन प्रमाण पत्र दें : डीसी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..