• Hindi News
  • Jharkhand
  • Torpa
  • कला प्रेमी ही कला का महत्व समझ सकता है ः जयमंगल
--Advertisement--

कला प्रेमी ही कला का महत्व समझ सकता है ः जयमंगल

Dainik Bhaskar

Feb 26, 2018, 03:40 AM IST

Torpa News - क्षेत्रीय प्राचीन कला संस्कृति विकास मंच का कार्यालय तोरपा हिल चैक में खुला। मुख्य अतिथि जिप सदस्य जयमंगल गुड़िया...

कला प्रेमी ही कला का महत्व समझ सकता है ः जयमंगल
क्षेत्रीय प्राचीन कला संस्कृति विकास मंच का कार्यालय तोरपा हिल चैक में खुला। मुख्य अतिथि जिप सदस्य जयमंगल गुड़िया ने फीता काट कर कार्यालय का उद्घाटन किया। उद्घाटन के बाद आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। इस दौरान झारखंड के नागपुरी कलाकार आजाद अंसारी, केशो देवी, बसंती देवी, मंजु देवी, ज्योति देवी, देवीलाल नायक, सहदेव साहू, फूलमनी कुमारी, महाबीर दास आदि ने अपनी कला की प्रस्तुति कर उपस्थित श्रोताओं का मन मोह लिया। जयमंगल गुड़िया ने कहा कि कला प्रेमी ही कला का महत्व समझ सकता है, गीत संगीत से ही मन को शांति मिलती है, उन्होंने विश्व स्तर पर हुए रिसर्च की चर्चा करते हुए आगे कहा कि दुनिया गीत गजल में रोगों का उपचार खोज रही है। उन्होंने सांस्कृतिक क्षेत्र को आगे ले जाने में अपना भरपूर सहयोग देने की बात कही। उन्होंने कार्यालय को कुछ जरूरी वस्तुएं भी अपनी ओर से देने की बात कही।

कार्यक्रम का संचालन मंच के सचिव लक्ष्मीकांत बड़ाईक ने किया, उन्होंने स्वरचित गीत भरू मोर अंजली भी लोगों को सुनाया। मौके पर बजरंग साहू, सुखदेव राम, मुकुंद सिंह, बैकुंठ षाड़ंगी, फूलचंद महतो, सतीश चौधरी, परेश महतो, रूपेश नायक, प्रताप गोप, राजकुमार सिंह, राघवदास, नंदू महतो, जयप्रकाश भेंगरा, रामदेव मांझी, आदि उपस्थित थे। अध्यक्ष रामप्रसाद सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

X
कला प्रेमी ही कला का महत्व समझ सकता है ः जयमंगल
Astrology

Recommended

Click to listen..