• Hindi News
  • Jharkhand
  • Torpa
  • शिक्षकों ने बच्चों की भावना को समझने के तरीके सीखे
--Advertisement--

शिक्षकों ने बच्चों की भावना को समझने के तरीके सीखे

Dainik Bhaskar

Feb 08, 2018, 03:50 AM IST

Torpa News - महिला विकास केंद्र में बुधवार को बाल मनोविज्ञान पर उन्मुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। स्वयं सेवी संस्था...

शिक्षकों ने बच्चों की भावना को समझने के तरीके सीखे
महिला विकास केंद्र में बुधवार को बाल मनोविज्ञान पर उन्मुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। स्वयं सेवी संस्था सिन्नी व महिला विकास केंद्र द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में प्रखंड के दर्जनों प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षक शामिल हुए। इसमें बाल मनोविज्ञान विशेषज्ञ सलोनी प्रिया ने शिक्षकों को राइट टू एजुकेशन के तहत संरक्षण, सहभागिता, सर्वांगीण विकास व अधिकार पर विस्तार से जानकारी। उन्होंने शिक्षकों के सवालों का जवाब देते हुए बच्चों में बुरी भावना, डर, झूठ बोलना, चीजें छुपाने, जिम्मेदारी से भागने, असुरक्षा व अविश्वास जैसे लक्षण व इसके कारण आदि बताए। उन्होंने बताया कि शिक्षा से ही बच्चों में अच्छे संस्कार आते हैं। नई शिक्षा नीति पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि इसे साकार होना चाहिए। मौके पर महिला विकास केंद्र की निदेशक सिस्टर मारिया लीना, सिस्टर चारूला, प्रभावती,विजय कुमार, मानुएल, रजनी, जेंडर, अजित, लालदेव, बिरसू राम, अमर,शिक्षक रवि जायसवाल आदि उपस्थित थे।

X
शिक्षकों ने बच्चों की भावना को समझने के तरीके सीखे
Astrology

Recommended

Click to listen..