• Hindi News
  • Jharkhand News
  • Torpa
  • एसपी, बीडीओ और थानेदार को बंधक बनाने के मामले में एक और गिरफ्तार
--Advertisement--

एसपी, बीडीओ और थानेदार को बंधक बनाने के मामले में एक और गिरफ्तार

आदिवासी महासभा के महासचिव कृष्णा हांसदा की जमशेदपुर से हुई गिरफ्तारी के विरोध में सोमवार को बुलाए गए खूंटी बंद का...

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2018, 03:50 AM IST
एसपी, बीडीओ और थानेदार को बंधक बनाने के मामले में एक और गिरफ्तार
आदिवासी महासभा के महासचिव कृष्णा हांसदा की जमशेदपुर से हुई गिरफ्तारी के विरोध में सोमवार को बुलाए गए खूंटी बंद का कहीं कोई असर नहीं दिखा। हांसदा पर आरोप है कि उसके नेतृत्व में 24 अगस्त, 2017 को खूंटी के एसपी, एसडीओ, बीडीओ, थानेदार समेत जवानों को खूंटी के कांकी में रातभर बंधक बनाया गया और भंडरा गांव में अफसरों के साथ दुर्व्यवहार किया गया। वहीं, पुलिस ने कांकी और भंडरा मामले में एक और नामजद आरोपी बाजू टूटी को गिरफ्तार कर लिया है।

रविवार शाम उसे खूंटी-भंडरा पथ से गिरफ्तार किया गया। वह भंडरा के पुटकल टोली का रहने वाला है। अब तक इस मामले में पांच लोग बिरसा पाहन, सुखराम मुंडा, विजय संगा, कृष्णा हांसदा और बाजू टूटी जेल भेजे जा चुके हैं। इस कांड के दो अन्य मुख्य आरोपी बबीता कच्छप और विजय कुजूर की तलाश पुलिस कर रही है।

ग्रामीणों की बैठक की सूचना मिली, कोई सामने नहीं आया

बंद समर्थकों से निबटने के लिए पुलिस अहले सुबह से ही तैयार थी। शहर के कई प्रवेश मार्गों पर पुलिस बलों की तैनाती की गई थी। जिले के सभी थानेदारों को इसके लिए बुलाया गया था। बेलाहाथी के आगे तोरपा थाना प्रभारी अमित तिवारी दलबल व एंटी लैंड माइंस वाहन के साथ तैनात थे। उन्होंने बताया कि पोसया में ग्रामीणों की बैठक करने की सूचना मिली थी, पर एक भी समर्थक सामने नहीं आया। एसडीपीओ रणवीर सिंह ने बताया गया कि तमाड़ मार्ग पर आड़ीडीह में बड़ी संख्या में ग्रामीण तीर- धनुष लेकर सड़क में उतरे थे। उन्हें लगा था कि पुलिस अफीम की खेती नष्ट करने के लिए जमा हो रही है। बाद में ग्रामीणों को पता चला कि पुलिस दूसरे मकसद से जुटी है, तो वे अपने-अपने घर लौट गए।

खूंटी जिले में चप्पे-चप्पे पर तैनात थे सुरक्षा बल के जवान।

X
एसपी, बीडीओ और थानेदार को बंधक बनाने के मामले में एक और गिरफ्तार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..