Hindi News »Jharkhand »Urimari» विस्थापितों ने उरीमारी में पांच घंटे ठप रखी कोयले की ढुलाई

विस्थापितों ने उरीमारी में पांच घंटे ठप रखी कोयले की ढुलाई

सिदो-कान्हू चौक उरीमारी के पास मुख्य सड़क पर रैयत विस्थापित-प्रभावित समन्वय समिति उरीमारी ने पांच घंटे कोयले की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 04:00 AM IST

विस्थापितों ने उरीमारी में पांच घंटे ठप रखी कोयले की ढुलाई
सिदो-कान्हू चौक उरीमारी के पास मुख्य सड़क पर रैयत विस्थापित-प्रभावित समन्वय समिति उरीमारी ने पांच घंटे कोयले की ढुलाई ठप कराई। उनकी मांग थी कि वोल्वो से कोयले की ढुलाई नहीं करवाने, ओवर लोडिंग कोयले की ढुलाई पर रोक लगाने, ट्रकों पर तिरपाल ढककर कोयले की ढुलाई करने व सड़कों पर नियमित रूप से पानी का छिड़काव करवाने। इन सभी मांगों को लेकर वार्ता के बाद कोयले की ढुलाई शुरू हो सकी। कोयले की ढुलाई बुधवार की सुबह पांच बजे से ठप कराई गई।

इस दौरान वोल्वो, ट्रक व हाईवा की लंबी कतारें सड़क पर लग गई। आवागमन पूरी तरह से बाधित हो गया। ठप को लेकर सीसीएल उरीमारी परियोजना के पोटंगा कोयला डीपो, न्यू बिरसा आउटसोर्सिंग परियोजना से सौंदा बी रेलवे साइडिंग के लिए कोयले की ढुलाई पूरी तरह से ठप हो गई। वहीं, बिरसा परियोजना से रेलवे साइडिंग उरीमारी टिपला के लिए कोयले की ढुलाई नहीं हो सकी। इससे सीसीएल को लाखों रुपए का नुकसान पहुंचा है। कोयले की ढुलाई ठप का नेतृत्व कर रहे रैयत विस्थापित-प्रभावित समन्वय समिति उरीमारी के संयोजक दशई मांझी ने कहा कि हमारी मांगे जायज है। मांगों को हर हाल में पूरी करनी होगी। अन्यथा आंदोलन चलता रहेगा।

कोयले की ढुलाई ठप कराते लोग।

ढुलाई ठप कराने वालों में ये थे शामिल

कोयला ढुलाई ठप कराने वालों में समिति के संयोजक के साथ सुरेश मुर्मू, विनोद सोरेन, तालो हांसदा, मनोज सिंह, दीपक करमाली, दिनेश प्रजापति, सोलेन हांसदा, सुखदेव किस्कू, रैना टुडू, लालजी मांझी, राजू पांवरिया, सिकंदर सोरेन, परमेश्वर सोरेन, दिनेश मुंडा, सुरेंद्र करमाली, पूरन टुडू, प्रदीप किस्कू, जितेंद्र यादव, राजू मुंडा, खेमलाल बेसरा, कर्मवीर सिंह, चंदा उरांव, बिरसा मांझी, अजय बेसरा, भोला किस्कू, कार्तिक यादव, भोंदू करमाली, सुरेश प्रजापति, वरियत किस्कू, तुलसी करमाली, टिंकू करमाली, विजय साव, बुधन करमाली, कृष्णा किस्कू, सोमरा पांवरिया, गणेश गंझू, अशोक प्रजापति, सुनील साव सहित कई लोग शामिल थे।

त्रिपक्षीय वार्ता के बाद शुरू हुई ढुलाई

इधर कोयला ढुलाई ठप को लेकर उरीमारी ओपी प्रभारी परमानंद कुमार मेहरा की पहल पर उरीमारी ओपी में त्रिपक्षीय वार्ता हुई। इसमें सीसीएल प्रबंधन, न्यू बिरसा आउटसोर्सिंग परियोजना प्रबंधन व रैयत विस्थापित-प्रभावित समन्वय समिति उरीमारी के लोग शामिल हुए। वार्ता में प्रबंधन की ओर से मांगों को यथाशीघ्र पूरा करने का आश्वासन दिया गया। इस आश्वासन के बाद बुधवार की सुबह पांच बजे से चल रहे कोयला ढुलाई ठप आंदोलन को दस बजे वापस ले लिया गया। त्रिपक्षीय वार्ता में उरीमारी ओपी प्रभारी परमानंद कुमार मेहरा, बरका-सयाल क्षेत्रीय सुरक्षा प्रभारी वीर बहादुर सिंह, उरीमारी सुरक्षा प्रभारी श्याम सुंदर प्रसाद, न्यू बिरसा आउटसोर्सिंग परियोजना के जीएम अमिताभ कुमार, सत्यनारायण रेड्डी व आंदोलनकारियों की ओर से समिति के संयोजक दशई मांझी, तालो हांसदा, मनोज सिंह आदि शामिल थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Urimari News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: विस्थापितों ने उरीमारी में पांच घंटे ठप रखी कोयले की ढुलाई
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Urimari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×