--Advertisement--

मी टू कैम्पेन / पहचान छिपाकर शादीशुदा पुरुष भी जुड़े



metoo campaign joins by man also see this funny incident
X
metoo campaign joins by man also see this funny incident

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 01:50 PM IST

बॉलीवुड के मी टू (Me Too) कैम्पेन से प्रेरणा लेकर कुछ शादीशुदा पुरुष भी 'मी टू कैम्पेनalt39 में शामिल हो गए हैं। हालांकि इन पुरुषों ने संभावित भावी खतरे को देखते हुए अपनी पहचान गोपनीय रखी है। 

 

सोशल मीडिया पर डाली एक पोस्ट में एक शादीशुदा पुरुष ने #MeTooMan हैशटैग से लिखा, "मेरी पत्नी सारिका देवी 5 अक्टूबर से लगातार लौकी ही खिला रही है, जबकि वह जानती है कि दुनिया का हर पति केवल अपनी पत्नी के दबाव में ही लौकी खाता है। इस वजह से मैं पिछले पांच दिन से मानसिक सदमे से गुजर रहा हूं। कई बार निवेदन करने के बाद भी पत्नी केवल लौकी ही पका रही है। यहां तक कि इस हिंसा में उसकी मां भी शामिल हो गई है। पिछले दो दिन से वह मेरे घर में ठहरी हुई है और लौकी के साथ मुझ पर सारे प्रयोग किए जा रही है।' 

 

क्या इस मामले में केस बनता है? : इस संबंध में हमने सुप्रीम कोर्ट के एक वरिष्ठ वकील से चर्चा की तो उसने नाम न छापने की शर्त पर कहा, "कानून में किसी भी पति को हफ्ते में दो बार लौकी खिलाना विधि सम्मत है। लेकिन अगर कोई महिला लगातार सात दिन तक अपने पति को लौकी खिला रही है तो इससे उसकी मंशा पर सवाल उठना लाजिमी है। इससे यह कृत्य मानसिक ज्यादती की श्रेणी में आ जाता है।" 

 

पत्नियां कैम्पेन के खिलाफ लामबंद : पत्नियां #MeTooMan कैम्पेन के खिलाफ लामबंद हो गई हैं। सोशल मीडिया पर इसके जवाब में उन्होंने लिखा, "लौकी खिलाना हमारा पत्नी सिद्ध अधिकार है। अगर कोई पति बना है तो उसे सप्ताह भर तो क्या, महीना भर भी लौकी खानी पड़ेगी।' 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..