ये सवाल नॉनसेंस है / तब कहावत होती, अक्ल बड़ी कि व्हेल!



buffalo does not feel the weight of his own horns
X
buffalo does not feel the weight of his own horns

Dainik Bhaskar

Sep 28, 2019, 07:01 PM IST

हम हर हफ्ते पाठकों से नॉनसेंस सवाल पूछते हैं। पिछली बार पूछा था- अगर अक्ल चरने जाने के बजाय स्वीमिंग करने चली जाती तो क्या होता? पेश हैं कुछ चुनिंदा जवाब :

 

  1. तो अक्ल को जुकाम हो जाता। -शैलेन्द्र बड़ागांव
  2. तो फिर कोई किसी को ऐसी नसीहत देता - तेरी अक्ल क्या स्विमिंग पूल में डूब गई क्या? -विश्वास जैन
  3. तो वह अक्ल डूब जाएगी, जिस पर पत्थर पड़े होंगे। - महक गुप्ता, जयपुर
  4. तब कहावत बनती, अक्ल बड़ी कि व्हेल! -मनोज कुमार/राजेश जोशी
  5. तो दिमाग हमेशा फ्रेश फील करता। -उत्कर्ष धनुले
  6. तो अक्ल स्विमिंग चैंपियन बनकर बाहर निकलती। - सुनीता उदयवाल
  7. तो अक्ल पानी-पानी हो जाती। -अदिति शर्मा
  8. तो फिर अक्ल को जंग लग जाएगा। -रवि खवसे
  9. तो फिर कोई भी दिमाग से पैदल नहीं होता, सब दिमाग से तैराक होते। -चंदन शर्मा
  10. तो कभी किसी का पारा ही नहीं चढ़ता। -रिंकी शाह
  11. तो लोग कहते कि अक्ल नहाकर आई है। -प्रियंका अग्रवाल
  12. तो दिमाग में पानी भरा होता, भूसा नहीं। -फरहत परवीन
  13. तो चर-चर के मोटी होने के बजाय तैर-तैरकर फिट होती। -निखिल मेहरा
  14. तो घास ज्यादा ही बड़ी हो जाती। - श्रुति सोलंकी
  15. तो अक्ल मोटी ना होकर सिक्स पेक एब्स वाली होती। -विरेन्द्र मेघवाल
  16. तो अक्ल साबुन बगैर ही साफ-स्वच्छ हो जाती। -दीनाराम राव

 

इस हफ्ते का नॉनसेंस सवाल :

 

अगर प्याज काटने पर उसके भीतर से 'लॉफिंग गैस' निकलती तो क्या होता? जवाब अपने पूरे नाम के साथ मेल करें : 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना