तरुण सागरजी महाराज अंतिम संस्कार संपन्न : 6-7 साल पहले डॉ. ने किया था महाराज को कैंसर होने का खुलासा, खुद दिल्ली जैन समाज के अध्यक्ष ने किया कंफर्म

dainikbhaskar.com | Sep 01,2018 19:32 PM IST

जैन मुनि तरुण सागरजी का 51 साल की उम्र में निधन हो गया। अभी भले ही उनकी मौत का कारण पीलिया बना है लेकिन इसके पहले भी वे एक गंभीर बीमारी का शिकार हो चुके हैं। दिल्ली जैन समाज के अध्यक्ष चक्रेश जैन ने बताया कि करीब 6-7 साल पहले उन्हें चातुर्मास के दौरान सिर में बहुत तेज दर्द की समस्या हुई थी। तब वे सूरत में थे। उसी समय उन्हें कैंसर होने का पता चला था। हालांकि उन्होंने इसका कभी अलग से कोई ट्रीटमेंट नहीं करवाया। इसके लिए हॉस्पिटल में एडमिट भी नहीं हुए। अपने तप, योग, दिनचर्या की दम पर उन्होंने खुद को ठीक कर लिया था। बाद में कभी कैंसर बढ़ने की बात सामने नहीं आई।

नेशनल न्यूट्रिशन वीक: शुगर-फ्री डाइट मोटापा और डायबिटीज कंट्रोल करती है, रोजाना 350 कैलोरी से अधिक शक्कर लेने से बढ़ता है बीमारियों का खतरा

Dainikbhaskar.com | Sep 01,2018 18:49 PM IST

बिना चीनी वाला भोजन कई तरह की बीमारियों से भी बचाने के साथ वजन कंट्रोल रखता है। इस डाइट में ज्यादातर फूड पोषक तत्व से भरपूर होने के साथ नेचुरल सोर्स से जुड़े होते हैं।

एसिड की एबीसीडी : शरीर में अम्ल का संतुलन बिगड़ने से हाई बीपी, ब्लॉकेज, स्टोन और ओरल प्रॉब्लम्स का खतरा ज्यादा

Dainikbhaskar.com | Sep 01,2018 17:59 PM IST

एसिड का स्तर जब ब्लड में बढ़ता है तो यह ब्लॉकेज उत्पन्न करता है जो कि हार्ट अटैक, लकवा और वेरीकोस वेन्स जैसी समस्याएं उत्पन्न करता है। अगर बढ़े हुए एसिड को नियंत्रित कर लें तो इन बड़ी-बड़ी समस्याओं से बच सकते हैं।