--Advertisement--

रसोई अम्मा / 107 साल की सबसे उम्रदराज यू-ट्यूबर शेफ मस्तानम्मा का निधन, खेतों में पकाती थी, 12 लाख हैं सब्सक्राइबर



107 year old youtube chef mastanamma dies known for traditional dish
107 year old youtube chef mastanamma dies known for traditional dish
107 year old youtube chef mastanamma dies known for traditional dish
107 year old youtube chef mastanamma dies known for traditional dish
107 year old youtube chef mastanamma dies known for traditional dish
X
107 year old youtube chef mastanamma dies known for traditional dish
107 year old youtube chef mastanamma dies known for traditional dish
107 year old youtube chef mastanamma dies known for traditional dish
107 year old youtube chef mastanamma dies known for traditional dish
107 year old youtube chef mastanamma dies known for traditional dish

  • 22 साल में पति का निधन और पांच में चार बच्चों की हैजा के कारण हुई मौत
  • परंपरागत व्यंजनों के अलावा बिरयानी के लिए भी जानी जाती हैं मस्तानम्मा

Dainik Bhaskar

Dec 05, 2018, 07:42 PM IST

विजयवाड़ा. ग्रैंड मां शेफ के नाम से मशूहर यू-ट्यूबर शेफ कारे मस्तानम्मा का सोमवार आंधप्रदेश के गुड़ीवाड़ा गांव में निधन हो गया। वे 107 वर्ष थीं। पिछले छह महीने से शारीरिक समस्याओं से जूझ रही थीं। यू-ट्यूब पर उनकी फैन फॉलोइंग का इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि इनके चैनल कंट्री फूड के 12.18 लाख सब्सक्राइबर हैं। सब्सक्राइबर की संख्या पिछले दो सालों में दोगुनी हुई है।

 

मस्तानम्मा को देसी परंपरागत व्यंजनों को बेहद खास तरह से बनाने के लिए जाना जाता है जिनका लगभग हर वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होता है। जिसे बनाने में उनका पोता लक्ष्मण और उनके दोस्त मदद करते हैं। मस्तानम्मा दुनिया की सबसे उम्रदराज यू-ट्यूबर शेफ रही हैं। 

ऐसे छाईं इंटरनेट पर

  1. संघर्षभरा रहा है जीवन

    • मस्तानम्मा का जीवन बेहद संघर्षभरा रहा है। मात्र 22 साल की उम्र में पति का निधन हो गया। पांच में से चार बच्चों की मौत कॉलरा की वजह से हुई। खुद को संभालते हुए और जीवन निर्वाह करने के लिए मस्तानम्मा ने खेती-किसानी में हाथ आजमाया।
    • खेतों में ही खाने बनाने का अलग अंदाज लोगों को काफी पसंद आया। लेकिन इन्हें प्रसिद्धी तब मिली जब इनके पोते ने गांव के बाहर ही एक रेस्तरां की शुरूआत की। जिसके मेन्यू में मस्तानम्मा के हाथ से बने खाने का प्रमुखता से जिक्र किया गया।
    • यू-ट्यूब चैनल कंट्री फूड्स कई मायनों में अलग है। जैसे मस्तानम्मा खाना बनाने के लिए एलपीजी गैस का इस्तेमाल नहीं करती थीं। पुरानी लकड़ियों को जलाकर खाना तैयार करती थीं। डिशेज खेतों में तैयार की गई हैं। हर वीडियो में 1 मिलियन से  ज्यादा व्यूज हैं। 

  2. डिशेज जो सबसे ज्यादा पसंद की गईं

    • कुछ खास डिशेज ऐसी रही हैं जिसनें मस्तानम्मा को फेमस बनाया। इनमें वॉटरमिलन चिकन, ऐमू के अंडे की करी और तेलुगू बैंगन का भर्ता खासतौर पर शामिल हैं। 
    • मस्तानम्मा को खास तरह की बिरयानी के लिए भी जाना गया जो हैदराबाद की दम बिरयानी से काफी अलग है। इस खास तरह की बिरयानी को बांस की लकड़ी को जलाकर बनाते हैं ताकि उसके धुएं का फ्लेवर इसके स्वाद में आ सके। जो इसे खास बनाता है। 
    • मस्तानम्मा आंधप्रदेश, तेलंगाना और मुगलई डिशेज को खास तरह से बना चुकी हैं जिसे काफी पसंद किया गया है। इनकी बनाई गई डिशेज में हालांकि नॉन-वेज प्रमुखता से शामिल रहा है।
       

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..