रिकॉल / दुनिया के सबसे रहस्यमय प्राणी हिममानव की कहानी, लोकथा से शुरू हुई और गाइड से हुआ सामना के बाद हुई पुष्टि



history of yeti when yeti was seen first and how snowman evolved
history of yeti when yeti was seen first and how snowman evolved
X
history of yeti when yeti was seen first and how snowman evolved
history of yeti when yeti was seen first and how snowman evolved

Dainik Bhaskar

Apr 30, 2019, 05:03 PM IST

साइंस डेस्क. दुनिया के सबसे रहस्यमय प्राणी येती यानी हिममानव को लेकर भारतीय सेना ने बड़ा खुलासा किया है। भारतीय सेना के मुताबिक, पर्वतारोहण दल ने 9 अप्रैल को मकाबू बेस कैंप के करीब 32x15 इंच वाले हिम मानव के पैरों के निशान देखे हैं। सेना ने तस्वीरें भी ट्वीट की हैं। जानिए धरती पर हिम मानव की मौजूदगी का सच क्या है?
 

सवाल : कहां से शुरू हुईं हिममानव और उसके अस्तित्व की कहानी?

  1. हिममानव का जिक्र कई दशकों से सुनाई जा रहीं तिब्बत और नेपाल की लोककथाओं में मिलता है। एक लोककथा के मुताबिक, हिमालय में बहुत ऊंचाई पर बंदर जैसे दिखने वाले कुछ दैत्यनुमा जीव रहते हैं। इन्हें ही येति या हिममानव कहा जाता है। नेपाल में येति को राक्षस भी कहते हैं।

  2. सवाल: हिमालय पर हिममानव की मौजूदगी में कितनी सच्चाई है और पहली बार कब देखा गया?

    • 1832 में पर्वतारोही बीएच होजशन ने किस्से-कहानियों वाले येति जैसे एक बड़े जीव का जिक्र उन्होंने एशियाटिक सोसायटी के जर्नल किया है। उन्होंने लिखा है कि वे हिमालय में ट्रैकिंग कर रहे थे तभी उनके गाइड ने एक विशातलकाय मनुष्य जैसे प्राणी को देखा। जो इंसानों की तरह दो पैरों पर चल रहा था। जिसके शरीर पर घने लंबे बाल थे। लेकिन होजशन ने खुद उस प्राणी को नहीं देखा था। इसलिए ये मुद्दा जोर नहीं पकड़ सका। 
    • फिर 1951 में ब्रिटिश खोजकर्ता एरिक शिप्टन ने एक विशाल पदचिह्न की तस्वीर ली, जिसमें स्पष्ट रूप से एक अंगूठा दिखा। ये पदचिन्ह नेपाल-तिब्बत सीमा पर मेनलुंग ग्लेशियर पर मिला था। लेकिन जब ये तस्वीर छपी तो लोगों ने कहा कि बर्फ के पिघलने से ये आकृति बनी है। 
    ''
    • इस घटना के बाद येति को लेकर काफी खोजबीन हुई। कई अभियान चलाए गए। एक में सर एडमंड हिलेरी शामिल थे। 1953 में सर एडमंड हिलेरी और तेनजिंग नोर्गे ने माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने के समय बड़े-बड़े पदचिन्हों को देखने की खबर दी।
    • अपनी पहली आत्मकथा में तेनजिंग ने कहा कि उनका मानना था कि येति एक विशाल वानर थे, हालांकि इसे उन्होंने खुद कभी नहीं देखा था, उनके पिताजी ने दो बार इसे देखा था, लेकिन अपनी दूसरी आत्मकथा में उन्होंने कहा वे इसके अस्तित्व को लेकर बहुत ज्यादा उलझन में पड़ गए थे।

  3. सवाल : हिममानव की मौजूदगी पर वैज्ञानिकों को कितना यकीन है?

    • वैज्ञानिकों के एक समूह को हिममानव होने के प्रमाण मिले हैं, हालांकि ये स्पष्टतौर पर कैसे दिखते हैं इसकी जानकारी मिल पाई है लेकिन इसकी मौजूदगी पर उन्हें यकीन है। 
    • 2017 में अंतरराष्ट्र्रीय शोधकर्ताओं ने हिममानव पर अध्ययन किया। उन्होंने हिमालय से इसके कुछ सेंपल भी जुटाए। सेंपल के मुताबिक, हिममानव भालू की तरह दिखाई देते हैं। 
    • 2018 में अमेरिका के दो लोगों ने ऐसा जीव भी देखा था जो आधा बंदर और आधा इंसान जैसा था। जिसे रबर के गोरिल्ला सूट की तरह बताया गया।

  4. सवाल : क्या वाकई में हिममानव दानव जैसा है और दिखता कैसा है?

    ''

     

    हिममानव के स्वरूप की बंदर और भालू से तुलना की गई है। अमेरिकी प्रत्यक्षदर्शियों का दावा है कि यह आधा बंदर-आधा इंसान जैसा दिखता है। पाॅप्युलर कार्टून शो ‘द एडवेंचर ऑफ टिन-टिन’ में येति को दिखाया गया है। शो में येति को काफी दयालु दिखाया गया है। इसे एक जंगली जानवर के तौर पर नहीं बल्कि इसका किरदार इंसानी खुबियों वाले कैरेक्टर के तौर पर गढ़ा गया है। 

     

     

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना