सैर-सपाटा / बेलफास्ट शहर के नीचे बहती है 170 साल पुरानी नदी, जिनेवा का संग्रहालय हैं खास



Ireland and Switzerland travel experience shared by a businessman neeraj rathod
X
Ireland and Switzerland travel experience shared by a businessman neeraj rathod

Dainik Bhaskar

Oct 29, 2019, 06:37 PM IST

लाइफस्टाइल डेस्क. कुछ समय पहले एक व्यवसायी नीरज राठौड़ को आयरलैंड और स्विट्जरलैंड के शहर जिनेवा की यात्रा करने का मौका मिला। आयरलैंड की फारसेट नदी के राज जानने का अवसर और जिनेवा शहर की खूबसूरती ने उनकी यात्रा को यादगार बना दिया।आयरलैंड और स्विट्जरलैंड की अपनी इस यात्रा को उन्होंने हमारे साथ साझा किया। आइए जानते हैं उनकी इस यात्रा के बारे में...

 

बकौल नीरज, बेलफास्ट उत्तरी आयरलैंड की राजधानी और वहां का सबसे बड़ा शहर है। यह आयरलैंड के द्वीप पर दूसरा सबसे बड़ा शहर है। इससे बड़ा शहर वहां पर डबलिन है, लागान नदी पर बसे इस शहर की आबादी 2011 में 3 लाख 13 हजार 871 थी। इंग्लैंड के लिवरपूल शहर से 1 घंटा 30 मिनट की फ्लाइट लेकर मैं बेलफास्ट पहुंचा। उत्तरी आयरलैंड में प्रोटेस्टेंट की संख्या कैथोलिक से अधिक है। मैंने उत्तरी आयरलैंड की राजधानी बेलफास्ट की सड़कों से गुजरते हुए यही महसूस किया कि यहां से हर रोज न जाने कितने लोग गुजरते हैं, लेकिन इनमें से शायद कुछ ही ये बात जानते हों कि उनके पैरों तले 170 साल पुराना एक राज छिपा है। इस जगमगाते शहर के ठीक नीचे बहती है फारसेट नदी। इस नदी के नाम पर ही इस शहर का नाम बेलफास्ट रखा गया है। बेलफास्ट की तरक्की और समृद्धि में भी इस नदी का अहम रोल है, लेकिन आज ये नदी दुनिया की नजरों से ओझल होकर खामोशी से जमीन के नीचे बहती है। यह जानकारी मुझे मिली तो मुझे भी आश्चर्य महसूस हुआ।

ऐतिहासिक संग्रहालय हैं खास

  1. जिनेवा समृद्धिशाली, वैभवशाली, सर्वाधिक स्वच्छ और सुव्यवस्थित शहर होने के कारण पूरे विश्वभर में प्रसिद्ध है। यही कारण है कि विभिन्न प्रकार के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन यहां समय−समय पर आयोजित किए जाते हैं। जिनेवा के प्रसिद्ध स्थलों में प्राकृतिक इतिहास का संग्रहालय (नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम), कला व इतिहास संग्रहालय और विशाल जिनेवा झील एवं बड़े बगीचे शामिल हैं। यहां का घड़ी संग्रहालय पूरे संसार में अपनी तरह का अकेला संग्रहालय है। पिछले 500 वर्षों में अब तक जितनी तरह की कलाई, टेबल और दीवार घड़ियां बनाई गई हैं, उन सबके सेम्पल यहां पर प्रदर्शित किए गए हैं। यहां पर एक अनोखी घड़ी भी है जो ठीक 12 बजे समय के प्रभाव को अनोखे ढंग से प्रदर्शित करती है। ऐसी घड़ी पूरी दुनिया में कही भी देखने को नहीं मिलेगी।
     

  2. हाई स्ट्रीट में बनी शॉप्स

    सन् 1600 में स्कॉटलैंड और इंग्लैंड से ईसाई धर्म के प्रोटेस्टेंट को मानने वाले लोगों ने यहां आना शुरू कर दिया। देखते ही देखते उन्होंने फारसेट नदी पर घाट बनाने शुरू कर दिए। हाई स्ट्रीट में आज बड़ी-बड़ी दुकानें हैं, लेकिन एक दौर था जब यहां जहाज चलते थे। ये जहाज इन घाटों पर आकर रुकते थे, जिनमें शराब, मसाले और तंबाकू लदा होता था।
     

  3. जिनेवा की खूबसूरत झील

    उत्तरी आयरलैंड की राजधानी बेलफास्ट के साथ ही मुझे स्विट्जरलैंड के जिनेवा शहर जाने का मौका मिला। यह फ्रांस से सटा हुआ है और फ्रांस से मात्र 10 किमी दूर है। जेनेवा झील को फ्रांसीसी भाषा में Lac Léman कहते हैं जो कि पश्चिमी यूरोप की सबसे बड़ी स्वच्छ जल की झील है। यह झील 582 वर्ग किमी क्षेत्रफल में फैली हुई है। इसका लगभग 60% एरिया स्विट्जरलैंड के क्षेत्राधिकार और शेष 40% भाग फ्रांस के क्षेत्राधिकार में आता है। जेनेवा शहर इसके दोनों किनारों पर बसा है। इस झील का पानी अल्प पर्वतमाला के सबसे स्वच्छ ग्लेशियर से आता है।
     

  4. जहां नदी का मुहाना था, वहां है सेंटजॉर्ज चर्च

    आयरलैंड के प्राचीन इतिहास के प्रोफेसर और 'रिवर ऑफ बेलफास्ट: ए हिस्ट्री' के लेखक डेस ओ राइली कहते हैं कि शहर के व्यापारिक केंद्र हाई स्ट्रीट में अगर आज किसी से इस नदी के बारे में पूछा जाए, तो हो सकता है कोई भी इसका जवाब ना दे पाए। आज लोग ये भूल चुके हैं कि बेलफास्ट को शहर की शक्ल में पनपने का मौका फारसेट नदी ने ही दिया था। आज जहां शहर के बड़े दौलतमंद इलाके हाई स्ट्रीट और विक्टोरिया स्ट्रीट आबाद हैं, वहां कभी फारसेट नदी का मुहाना होता था। आज यहां मशहूर सेंटजॉर्ज चर्च है, लेकिन ये चर्च भी एक प्राचीन गिरजाघर की जगह पर बनाया गया है। बताया जाता है कि 800 साल पहले श्रद्धालु यहां प्रार्थना करने आते थे। उनकी ख्वाहिश होती थी कि वो फारसेट नदी सुरक्षित तौर पर पार कर लें।चूंकि इस नदी के मुहाने पर अक्सर दलदली मिट्टी जमा रहती थी और पानी का उफान तेज रहता था। जब पानी की लहरें कमजोर पड़ती थीं, तभी इसमें नावें दौड़ाई जाती थीं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना