फिल्मी है जंपमैन से बने मारियो की कहानी, पढ़िए इसकी टोपी से लेकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने तक के किस्से

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

लाइफस्टाइल डेस्क. गेमिंग वर्ल्ड का पहला सबसे चर्चित वीडियो गेम सुपर ब्रदर्स मारियो 80 और 90 के दशक में सबसे ज्यादा पसंद किया गया। लाल रंग की पोशाक में उछलता मारियो एक बार फिर चर्चा में है। सुपर मारियो ब्रोज 1985 की विशेष दुर्लभ डिस्क 71 लाख रुपए में बिकी है जो एक रिकॉर्ड है। मारियो का अब तक का सफर जितना यादगार और दिलचस्प रहा है उतना ही इसके जनक शिगेरू मियामोतो के लिए चुनौतियों भरा रहा है। बहुत कम लोग ही जानते हैं पिक्सलेट ग्राफिक के 80 के दशक में इसका चेहरा तैयार करने में कितनी दिक्कतें आई थीं। सबसे पहले इसका नाम जंपमैन रखा गया था जिसे लॉन्चिंग से पहले मारियो किया गया। नाम बदलने की कहानी भी एकदम फिल्मी है। एक छोटे कार्टून कैरेक्टर से लेकर लोगों के दिलों पर छाप छोड़ने वाले मारियो के कई दिलचस्प किस्से हैं। वीकेंड स्टोरी में जानिए इनके बारे में...

1) रियल एस्टेट कारोबारी ने मारियो को अपना नाम

सबसे पहले इसका नाम जंपममैन रखा गया था लेकिन बाद में मारियो कैरेक्टर का नामकरण रियल एस्टेट कारोबारी के नाम पर रखा गया था। जिनकी पिछले साल ही 84 साल की उम्र में मौत हुई थी। कारोबारी मारियो सीगेल ने जापानी कंपनी निनटेंडो को अमेरिका में हेड क्वार्टर बनाने के लिए जगह किराए पर दी थी। गेम तैयार करने वाली टीम डंकी कॉन्ग के कैरेक्टर्स के नाम सोच रही थी। इसमें एक कैरेक्टर ऐसा भी था जो लाल टोपी लगाकार डंकी के बम और गोलों से बचता हुआ अपने लक्ष्य तक पहुंचता है। उस दौरान सीगेल कमरे में गए और वीडियो पूरी हिस्ट्री देखी और लाल टोपी वाले कैरेक्टर को मारियो नाम दिया। इस तरह मारियो पहली बार 1981 में डंकी कॉन्ग में दिखा।

जापानी वीडियो गेम डिजाइनर शिगेरू मियामोतो मारियो को खास लुक देना चाहते थे लेकिन उस दौरान पिक्सलेट ग्राफिक का चलन था और हाई रेज्यूलेशन ग्राफिक बनाना संभव नहीं था। इस कारण चेहरा और बालों को डिजाइन करने में सबसे ज्यादा दिक्कत हुई। इसके समाधान के तौर पर लाल रंग की टोपी पहनाई गई और चेहरे पर अधिक मेहनत न करनी पड़े इसलिए मूंछों का सहारा लिया गया। मारियो के कपड़ों के रंगों में भी बदलाव किया गया। जब 1981 में पहला मारियाे डंकी कॉन्ग गेम में दिखाई दिया तो शर्ट नीली और पैंट-टोपी लाल थी वहीं सुपर मारियाे ब्रदर्स में जब इसे रिलीज किया गया कपड़ों का रंग इसके विपरीत था। इसके अलावा सफेद रंग की ड्रेस में भी दिखाई दिया।

मारियो ब्रदर्स के साधारण वर्जन को 1983 में रिलीज किया गया। जिसमें मारियो के साथ हरे रंग की ड्रेस में इसका भाई लुइगी नजर आया। बाद में इसे टीम में बड़े स्तर पर बनाया और नाम दिया सुपर मारियो ब्रदर्स। इसे सबसे पहले जापान में 13 सितंबर 1985 में रिलीज किया गया। जिसकी डिजाइन, निर्देशन और प्रोग्रामिंग की थी शिगेरू मियामोतो ने। ये गेम 8 वर्ल्ड में बंटा था, जिसमें मारियो हीरो था और हर एक में चार सब-लेवल (स्टेज) थे। मारियो कैरेक्टर अब तक 200 से अधिक अलग-अलग गेमों में नजर आ चुका है। बहुत कम लोग जानते हैं कि 1983 में मारियो ने गेमिंग उद्योग को आर्थिक संकट से उबरने में मदद की।

  • इसकी पॉप्युलैरिटी ने लोगों के ज़ेहन पर छाप छोड़ी और स्पेन में एक सड़क का नाम इस गेम पर रखा गया जो बेहद मशहूर है।
  • 2015 में सुपर मारियो ब्रदर्स को वर्ल्ड वीडियो गेम हॉल ऑफ फेम के लिए चुना गया। 
  • सुपर मारियो सीरिज दुनिया की सबसे सफलतम गेमिंग फ्रेंचाइजी में से एक है इसका नाम गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी दर्ज है। 
  • सुपर मारियो ब्राॅस दुनिया में 10 सबसे ज्यादा बिकने वाले मोबाइल गेम में शामिल है। टॉप 10 गेम में से छह गेम मारियो बनाने वाली निनटेंडो के हैं।