100 कंगारुओं की जान बचाने के लिए एक बच्ची ने लिखी दिल को छू लेने वाली पोस्ट

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रॉपटी डेवलपर कॉलोनी बनाने के लिए खाली पड़े प्लॉट में रह रहे 100 कंगारुओं को मार देना चाहता था
  • डेवलपर के खिलाफ आक्रोशित लोगों ने चलाया हस्ताक्षर अभियान, 60 हजार से अधिक लोगों ने किए साइन
  • मंत्रियों का भेजी गई याचिका और सैकड़ों पत्रों का हुआ असर, शिफ्ट किए जाएंगे कंगारू

लाइफस्टाइल डेस्क.  एक छोटी सी बच्ची की गुजारिश ने 100 कंगारुओं की जान बचा ली है। ऑस्ट्रेलिया के पर्थ शहर से 45 किलोमीटर दूर स्थित बलडिविस में प्रॉपटी डेवलपर एक कॉलोनी बनाने के लिए खाली पड़े प्लॉट में रह रहे इन्हें मार देना चाहता था। इसका स्थानीय लोगों ने विरोध किया और अभियान चलाया। इस दौरान, सोशल मीडिया पर एक बच्ची का कंगारुओं को बचाने के लिए लिखा संदेश लोगों का दिल छू गया।नतीजा ये रहा है कि अब बाड़ा बनाकर कंगारुओं को दूसरी जगह शिफ्ट किया जाएगा।

1) मंत्री को भेजे गए पत्र

कंगारुओं को बचाने के लिए स्थानीय लोगों ने पत्र लिखे और एक याचिका तैयार की। इस पर सिर्फ 9 दिनों के अंदर ही 60 हजार लोगों ने हस्ताक्षर किए। याचिका और पत्र मंत्रियों को भेजे गए।

 

 

अभियान में ज्यादा से ज्यादा लोगों को शामिल करने के लिए स्थानीय लोगों ने फेसबुक पर एक ग्रुप बनाया। ग्रुप में बताया गया कि कैसे डेवलपर कॉलोनी बनाने के लिए कंगारुओं को खत्म करना चाहते हैं। इस मुहिम में सोशल मीडिया पर एक बच्ची की पोस्ट काफी वायरल हुई जिसने लोगों को अभियान से जोड़ा।

फेसबुक पर बच्ची ने हाथ से बनाई कंगारू की तस्वीर के साथ उसे न मारने की गुजारिश की थी। पोस्ट में लिखा- "क्या आप इन्हें मारने का इरादा छोड़ सकते हैं। ये किसी को हानि नहीं पहुंचा रहे हैं। शांति से अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं। इसलिए इन्हें न मारें। सेव द रुस।”

बलडिविस काउंसलर मैथ्यू के मुताबिक, दोनों पक्षों के साथ हुई बातचीत के बाद फैसला लिया गया है कि कंगारुओं को दूसरी जगह बाड़ा बनाकर शिफ्ट किया जाएगा। हालांकि, ये कहां शिफ्ट किए जाएंगे इसकी जानकारी नहीं दी गई है। मैथ्यू का कहना है कि यहां का शहरी वातावरण लोगों को लिए आकर्षण का केंद्र है। यह कस्बा खेती, पेड़-पौधे, वाइल्ड लाइफ और जानवरों की प्रजातियों के लिए जाना जाता है।