इंस्पिरेशन / ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे; प्रेरक कहानियों के इस प्लेटफॉर्म के 13 लाख फॉलोअर

Dainik Bhaskar

May 13, 2019, 11:40 AM IST


meet karishma mehta the woman behind humans of bombay AND  STORY TELLING
X
meet karishma mehta the woman behind humans of bombay AND  STORY TELLING

  • आम लोगों की सकारात्मक कहानियों और अनुभवों को दुनिया से शेयर करने के लिए 2014 में हुई थी पहल
  • 10 लाख से ज्यादा लोग इस प्लेटफॉर्म पर मौजूद कहानियों को पढ़ चुके

लाइफस्टाइल डेस्क. दिल्ली के एक दंपती कविता और हिमांशु ने डाउन सिंड्रोम से ग्रस्त बच्चे को गोद लिया है। ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे फेसबुक पेज पर आई इस स्टोरी की काफी चर्चा है। इससे पहले एक मां और सात साल की बेटी के संघर्ष की कहानी, बेटे को खो देने के बाद बहू और पोते के लिए मां की प्रेरणा देने वाली कहानी या फिर ताज हमले के वक्त होटल से बाहर निकलने वाले शख्स का अनुभव। ऐसी सैकड़ों प्रेरक कहानियां इस प्लेटफॉर्म पर 5 साल में शेयर की जा चुकी हैं। करीब 13 लाख लोग जुड़ चुके हैं। 10 लाख लोग इन कहानियों को पढ़ चुके हैं। 2014 में शुरू हुए इस सफर और अनुभवों के बारे में जानिए इसकी फाउंडर करिश्मा से....  
 

चुनौती थी कि ऐसा कंटेंट बने जिसे पढ़कर लोगों को कुछ तो अहसास हो

  1. मैं ह्यूमन्स ऑफ न्यूयॉर्क की फॉलोअर हूं, हमेशा ऐसा लगता था कि मुंबई में भी ऐसा प्लेटफॉर्म होना चाहिए। चुनौती यह थी कि ऐसा कंटेंट बन सके, जिसे पढ़कर लोगों को कुछ तो अहसास हो। तभी लोग कंटेंट से खुद को जोड़कर देख पाएंगे। नॉटिंघम यूनिवर्सिटी से इंडस्ट्रियल इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएशन करने के बाद छह महीने का ब्रेक लिया था। इस दौरान मैं फोटोग्राफर दोस्त के साथ मुंबई के मरीन ड्राइव पर फोटो खींचने पहुंची थी। लोगों से बातचीत की, उनसे फोटो खिंचवाने को कहा तो कोई तैयार नहीं हुआ, 10 लोगों के मना करने के बाद एक बुजुर्ग महिला बात करने के लिए राजी हुईं। मुझे महसूस हुआ कि ऐसी कोशिशें लगातार होनी चाहिए। एक हफ्ते बाद फेसबुक पर मैंने एक पेज लॉन्च कर दिया। कोई भी स्टोरी लेने से पहले हम बहुत रिसर्च करते हैं, ऐसे लोगों को ढूंढ़ते रहते हैं जिनके पास कहने को कहानी है, और वह पढ़ी ही जाएगी। हम उनसे संपर्क करते हैं और उनसे कहानी शेयर करने के लिए अनुरोध करते हैं। बहुत सारे ईमेल आते हैं, इनमें भी कई कहानियां मिलती हैं। शादी, रिश्तों का टूटना, ड्रग्स की लत जैसे विषयों पर बात करने के लिए बहुत हिम्मत की जरुरत होती है। बहुत से लोग चाहते हैं कि उनकी कहानियां सुनीं जाएं, पर विडंबना यह है कि हर कोई सुनना नहीं चाहता। ऐसी जगह पर हमारी भूमिका शुरू होती है। हम हर कहानी में संवेदनशीलता और सम्मान के साथ पेश आते हैं, और सुनिश्चित करते हैं कि हर इंसान की बात सुनी जाए। व्यक्ति से बात करने से पहले हम उसके बारे में पड़ताल करते हैं। सोशल वर्ल्ड पर हमारी पहली स्टोरी जिसकी सबसे ज्यादा चर्चा हुई वह अनिल कपूर के साथ बातचीत की थी। उन्होंने ऐसी बातें कहीं, जो पहले कभी, कहीं पर नहीं की थी। लोगों ने तो इसे बहुत पसंद किया ही, यह इंटरव्यू मेरे भी दिल के बहुत करीब है। प्रधानमंत्री मोदी के इंटरव्यू का उद्देश्य सिर्फ इतना था कि देश के बड़े पद पर बैठे इंसान की कहानी के बारे में लोगों को पता चले। ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे पूरे देश में विस्तारित हो रहा है। हमारे साथी दिल्ली, पुणे, बेंगलुरू, चेन्नई और अहमदाबाद जैसे शहरों में हैं। हमारा स्टोरी बैंक व्यापक है। हम इन कहानियों पर दूसरी किताब लाने की भी तैयारी कर रहे हैं।’
     - करिश्मा मेहता
     

COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543