जेलीबॉट्स / वायरलेस जेलीफिश रोबोट जो समुद्री जीवों की हरकत और जलवायु परिवर्तन पर रखता है नजर



robotic jellyfish a climate spy and eyes over the ocean
X
robotic jellyfish a climate spy and eyes over the ocean

  • फ्लोरिडा की अटलांटिक यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं तैयार किया है जेलीबॉट्स
  • जेलीफिश जैसा दिखने वाला रोबोट समुद्री इकोसिस्टम की करता है निगरानी

Dainik Bhaskar

Jan 07, 2019, 03:27 PM IST

लाइफस्टाइल डेस्क. फ्लोरिडा की अटलांटिक यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने समुद्र जीवों और यहां की जलवायु पर नजर रखने के लिए रोबोटिक जेलीफिश तैयार की है। जो समुद्र के अलग-अलग हिस्सों के तापमान से लेकर जीवों की मौजूदगी से जुड़ी जानकारी देगी। वैज्ञानिकों का कहना है कि इसकी मदद से समुद्र के इकोसिस्टम की निगरानी रखी जा सकेगी। जेलीबॉट्स को खास तरह से डिजाइन किया गया है ताकि समुद्री जीवों को इससे किसी तरह का नुकसान न पहुंचे। 

रिसर्च से जुड़ी खास बातें

  1. सिलिकॉन से बने टेंटिकल्स तैरने में करते हैं मदद

    वैज्ञानिकों के मुताबिक, समुद्र में भेजे जाने वाले रोबोट काफी आवाज करने के साथ जीवों के लिए डर का कारण बनते हैं, इसलिए रिसर्च टीम ने रोबोट को जेली फिश का आकार दिया है ताकि इसे एक समुद्री जीव की तरह समझा जाए। इसमें सिलीकॉन के टेंटिकल्स (भुजाओं) लगाए गए हैं जो दो बेहद छोटे-छोटे पंप की मदद से तैरने में मदद करते हैं। यह खुद का आकार छोटा करने में भी समर्थ है इसलिए संकरी जगहों से भी जानकारियां हासिल की जा सकती हैं।

  2. वायरलेस जेलीबॉट में लगे हैं सेंसर

    ''

     

    जेलीबॉट्स में कई सेंसर लगाए गए हैं जो समुद्री जानकारी को इकट‌्ठा करने का काम करते हैं। इसके ऊपरी हिस्से में इलेक्ट्राॅनिक चिप लगाई है जो इसे नियंत्रित करती है। वैज्ञानिक समुद्री जानकारी हासिल करने के लिए इसे पानी में भेजते हैं बिना किसी वायर के कंट्रोल करते हैं।

  3. जलवायु परिवर्तन की परिवर्तन की जानकारी मिलेगी

    शोध से जुड़े डॉ. एरिक एन्गेबर्ग का कहना है रोबोटिक जेलीफिश ऐसी डिवाइस के रूप में काम करती है जो समुद्री जीवन को बिना नुकसान पहुंचाए हम तक जानकारी पहुंचाती है। समुद्र में कोरल रीफ के अध्ययन के लिए जानकारी जुटाना हमेशा से ही चुनौतीपूर्ण रहा है जो अब आसान होगा। समुद्र का तेजी से बदलता तापमान कई जीवों के लिए खतरा बन रहा है जिसे काफी हद तक समझने में आसानी होगी।

COMMENT