--Advertisement--

विरासत / 66 साल के यान पिछले 48 साल से हाथों से फिल्मी पोस्टर बनाने वाले ताइवान के एक मात्र पेंटर



Taiwanese artist Yan Jhen fa to continues oil painting tradition at 66
Taiwanese artist Yan Jhen fa to continues oil painting tradition at 66
Taiwanese artist Yan Jhen fa to continues oil painting tradition at 66
Taiwanese artist Yan Jhen fa to continues oil painting tradition at 66
X
Taiwanese artist Yan Jhen fa to continues oil painting tradition at 66
Taiwanese artist Yan Jhen fa to continues oil painting tradition at 66
Taiwanese artist Yan Jhen fa to continues oil painting tradition at 66
Taiwanese artist Yan Jhen fa to continues oil painting tradition at 66

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 07:05 PM IST

लाइफस्टाइल डेस्क. 66 साल के यान झेन-फा आजतक किसी भी फिल्मी कलाकार से नहीं मिले हैं लेकिन कई एक्टर्स को अपने कैनवस पर उतार चुके हैं। 3डी प्रोजेक्शन और हाई क्वालिटी फिल्म पोस्टर प्रिंटिंग के दौर में भी यान हाथों से पोस्टर तैयार करते हैं और खुद ही थियेटर के बाहर इसे टांगने का काम भी बखूबी संभाल रहे हैं। यान आज के दौर में ऑयल पेंटिंग से फिल्मी पोस्टर तैयार करने वाले ताइवान के एकमात्र पेंटर हैं और पिछले 48 साल से इस क्षेत्र में काम कर रहे हैं। ताइवान की इस पुरानी कला को संभालते हुए उम्र के इस पड़ाव पर आंखों की राेशनी जवाब दे रही है लेकिन इनका पेंटिंग का जोश आज भी कम नहीं हुआ है और ताइवान की इस विरासत को सहेज रखा है।

 

''

 

बचपन में फिल्मी विज्ञापन को कॉपी करने से हुई शुरुआत
यान खासतौर पर ताईवान के पुराने शहर ताइनान स्थित चिन मैन थियेटर के लिए काम करते हैं। इस थियेटर में आज भी हाथों से लिखे टिकट दिए जाते हैं और डिजिटल प्रिंट के दौर में हाथों से बने फिल्मी पोस्टर का इस्तेमाल किया जाता है। यान बताते हैं कि जब मैं काफी छोटा  था तो अखबारों में फिल्मों के विज्ञापन देखा करता है। उस दौरान मैं उन्हें पेपर पर उतारने की कोशिश करता था। मेरी आर्ट को देखने के बाद एक रिश्तेदार ने मुझे साइन पेंटर से मिलवाया और उनसे मैंने ताइवान की इस परंपरागत कला को सीखा। इसे पूरी तरह से सीखने में करीब 10 साल लगे। 

 

''

 

खत्म हो रही है ताइवान की परंपरागत कला
यान कहते हैं आज के युवा इस कला को बतौर प्रोफेशन नहीं अपनाना चाहते। बड़ी समस्या है कि इसके लिए बड़ी जगह का होना जरूरी है और दिनभर खड़े रहकर इसे तैयार करना पड़ता है। साथ ही तैयार करने के बाद इसे  थियेटर के बार लगाना भी जिम्मेदारी का हिस्सा है।
 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..