वर्ल्ड रेडियो डे / कभी भारत में रद्द हुए थे रेडियो के लाइसेंस और ट्रांसमीटर जमा करने का जारी हुआ था आदेश



world radio day 2019 why celebrated day radio day history of radio
world radio day 2019 why celebrated day radio day history of radio
X
world radio day 2019 why celebrated day radio day history of radio
world radio day 2019 why celebrated day radio day history of radio

  • 119 साल का हुआ रेडियो, लोगों के मनोरंजन के लिए 1906 में पहली बार सुनाई गई थी वायलिन की धुन
  • रेडियो की खोज 1900 में एक इटेलियन वैज्ञानिक गुल्येल्मो मार्कोनी ने की
  • साल दर साल इसमें कई बदलाव हुए जिसने इसे दुनियाभर में खबरों का माध्यम बनाया
  • इंटरनेट के दौर में आज भी दुनिया में 390 करोड़ लोगों के लिए मनोरंजन का जरिया रेडियो है
     

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 01:11 PM IST

लाइफस्टाइल डेस्क. आज वर्ल्ड रेडियो डे है। यूं तो भारतीय वैज्ञानिक जगदीश चंद्र बसु ने भारत में और गुल्येल्मो मार्कोनी ने इंग्लैंड से अमरीका संदेश भेजकर 1900 में रेडियो की शुरुआत कर दी थी। लेकिन इसे मनोरंजक बनाने में 24 दिसंबर 1906 का दिन यादगार रहा। जब शाम को वैज्ञानिक रेगिनॉल्ड फेसेंडेन ने अपना वायलिन बजाया और अटलांटिक महासागर में तैर रहे तमाम जहाजों के रेडियो ऑपरेटरों ने उस संगीत को अपने रेडियो सेट पर सुना। ये दुनिया में रेडियो प्रसारण की बड़ी शुरुआत थी। जानिए रेडियो से जुड़ा एक दिलचस्प किस्सा जब रेडियो के लाइसेंस रद्द करने का सरकारी फरमान जारी किया गया था...
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना