दफ्तर की डेस्क पर पौधा, मूर्ति या तस्वीरें वास्तु के मुताबिक सजाएं, जगह का माहौल रहेगा खुशहाल

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

लाइफस्टाइल डेस्क. कई कामकाजी लोग अपने दफ़्तर की डेस्क को सजाकर रखते हैं। छोटे पौधे, मूर्ति या तस्वीरें रखते हैं ताकि खुश रहें और काम करने में मन भी लगा रहे। यह सजावट अच्छी है लेकिन जो यही वास्तुसम्मत हो, तो और भी अच्छा होगा। वास्तुविद एवं लेखिका अनीता जैन से जानिए कैसी होनी चाहिए डेस्क...

1) पौधा रख रहे हैं तो...?

डेस्क पर पौधा रख रहे हैं तो डेस्क के पूर्व या उत्तर में मनी प्लांट या बांस का पौधा रखें। ये सुंदर होने के साथ-साथ समृद्धिकारक माने गए हैं। हरा रंग ख़ुशहाली, समृद्धि, उत्कर्ष और पवित्रता का प्रतीक है। माना गया है कि यह सकारात्मक ऊर्जा के स्तर में वृद्धि करता है और मन-मस्तिष्क को सुकून पहुंचाता है। हरे-भरे पौधे देखने से तनाव भी कम होता है, ख़ुशी महसूस होती है। सूखे, कांटेदार और बोनसाई डेस्क पर कभी नहीं लगाएं। ये निराशा के सूचक माने गए हैं।

डेस्क पर उत्तर दिशा की तरफ़ हरे-भरे जंगल या लहलहाती फसलों की तस्वीर लगाने से कई लाभ प्राप्त होते हैं। यहां पर पेड़-पौधे, भागते घोड़े, उड़ते पक्षी, स्वस्तिक चिन्ह या उगता हुआ सूर्य जैसे मन को प्रफुल्लित करने वाली तस्वीरें लगा सकते हैं। रोता हुआ बच्चा, कटीले पौधे, टूटी मूर्ति, आदि जैसे नकारात्मक चित्र लगाने से बचें। यह नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाते हैं। कई सारी तस्वीरें एक साथ लगाने के बजाय सिर्फ 4-5 तस्वीरें ही लगाएं।

डेस्क पर ताजे फूलों का एक गुलदस्ता रख सकते हैं। फूलों की सजावट मन को आनंद प्रदान करती है व तनाव कम करने में मदद करती है। गुलदस्ते के फूल सूखने या मुरझाने लगें, तो इन्हें तुरंत बदल दें। ऐसे फूल नकारात्मक ऊर्जा का सृजन करते हैं।

भगवान की मूर्ति रख रहे हैं तो इसे पूर्व या उत्तर में रखें और इन पर धूल नहीं जमने दें। शुभ फल मिले इसके लिए डेस्क पर उत्तर-पूर्व की तरफ़ अपने इष्टदेव की फोटो अवश्य लगाएं। कार्य शुरू करने से पूर्व इन्हें प्रणाम करना न भूलें। ऐसा करने से आपको मानसिक स्पष्टता प्राप्त होती है।

डेस्क पर सामान बिखरा रहने से काम करने में मन नहीं लगता। हमेशा उलझन बनी रहती है और वास्तु दोष भी उत्पन्न होता है। वास्तुशास्त्र के अनुरूप, डेस्क पर फाइल या काग़ज़ों का ढेर लगा रहना कार्य की गुणवत्ता को प्रभावित करता है। नकारात्मक ऊर्जा में भी वृद्धि होती है जिससे तनाव बढ़ेगा और समय से कार्य पूर्ण नहीं होगा।। डेस्क पर पेन-पेंसिल या अन्य सामान फैलाकर रखनेे से भी कार्यों में रुकावटें आती हैं। डेस्क को साफ़-सुथरा, व्यवस्थित और सुंदर बनाकर रखें।

जहां बैठकर हम काम करते हैं, वह स्थान पवित्र होता है, आजीविका कमाने का स्थान होता है इसलिए डेस्क पर कभी भी खाना-पीना नहीं चाहिए। डेस्क पर बैठकर चाय या कॉफी पीना, भोजन करना, मांस का सेवन करना तरक्की में बाधा बनता है। यह कार्यस्थल पर क्लेश, मानसिक विकार, कॅरियर में रुकावट का कारण भी बनता है। 

वास्तुदोष उत्पन्न न हो इसके लिए डेस्क के उत्तर-पूर्व दिशा में क्रिस्टल का पेपरवेट रखें। डेस्क पर फेंगशुई का क्रिस्टल ग्लोब या लाफिंग बुद्धा रखने से नए अवसर मिल सकते हैं। क्रिस्टल ग्लोब को दिन में दो-तीन बार घुमाएं इससे काम करने के लिए सकारात्मक ऊर्जा मिलेगी। डेस्क पर क्रिस्टल या धातु का छोटा-सा कछुआ रखने से मन में शांति बनी रहेगी। डेस्क पर फिटकरी का एक छोटा-सा टुकड़ा या पैन स्टैंड के अंदर कपूर रखना भी लाभकारी होता है।

खबरें और भी हैं...