कार्यक्रम:हनुमान प्रसाद पोद्दार की जयंती पर द्विजदेनी क्लब ने किया याद

फारबिसगंज7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जयंती पर मौजूद सदस्य। - Dainik Bhaskar
जयंती पर मौजूद सदस्य।

स्थानीय पंडित रामदेनी तिवारी ‘द्विजदेनी’ क्लब के द्वारा गीता प्रेस के संस्थापक हनुमान प्रसाद पोद्दार की जयन्ती समारोह पूर्वक मनाई गई। समारोह की अध्यक्षता बाल साहित्यकार हेमन्त यादव एवं संचालन युवा कवि गौतम केसरी ने किया। सर्वप्रथम रामचरित मानस ग्रंथ का पूजन हुआ। इसके बाद वक्ताओं ने पोद्दार के जीवनी पर प्रकाश डाला। इस मौके पर पूर्व प्रधानाध्यापक सुरेन्द्र प्रसाद मण्डल ने कहा कि उन्होंने 1922 ई० में उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में इन्होंने गीता प्रेस की स्थापना की।प्रधानाध्यापक हर्ष नारायण दास ने बताया कि आरंभिक जीवन में वे क्रांतिकारी और कर्तव्यनिष्ठ थे। प्रो. सुधीर सागर ने कहा कि विद्वानो ने उन्हें एक असामान्य भगवद्‌भक्त, कर्मयोग की साकार मूर्ति, करुणा के सागर, विनम्रता की विभूति, निस्वार्थ प्रेम का प्रतीक माना। हिन्दी सेवी अरविन्द ठाकुर ने कहा कि महान कवि सुमित्रानंदन पंत ने इन्हें महान आत्मा के रूप में देखा था। उन्हें कर्म, ज्ञान और भक्ति की त्रिवेणी के नाम से जाना जाता था।

खबरें और भी हैं...