विधिक जागरुकता शिविर का आयोजन:असामाजिक तत्व नहीं कर सकते मौलिक अधिकार से वंचित, हों जागरूक

औरंगाबाद नगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधिक जागरूकता शिविर में मौजूद छात्राएं व अधिवक्ता। - Dainik Bhaskar
विधिक जागरूकता शिविर में मौजूद छात्राएं व अधिवक्ता।

जिला विधिक सेवा प्राधिकार सचिव प्रणव शंकर के आदेशानुसार राजकीयकृत किशोरी सिन्हा कन्या उच्च विद्यालय में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। संविधान मौलिक अधिकार व मौलिक कर्तव्य विषय पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। अध्यक्षता पैनल वरीय महिला अधिवक्ता स्नेहलता व संचालन रिटेनर लायर अभिनंदन कुमार ने किया। सभी को संविधान के उद्देशिका का शपथ दिलवाई। उसके बाद वरिष्ठ अतिथि जिला विधिक संघ के अध्यक्ष रसिक बिहारी सिंह ने किशोरियों को संबोधित करते हुए कहा कि असमाजिक तत्व आपके शिक्षा का मौलिक अधिकार से वंचित नहीं कर सकते। लड़कियां बदल रही है, लड़के नहीं बदल रहे हैं।

उनके माता पिता का दायित्व है कि बच्चों को संस्कार दे और स्वच्छ शान्ति प्रिय समाज के निमार्ण में सहयोग करें। पैनल महिला अधिवक्ता स्नेह लता ने कहा कि सुनकर दुख होता है कि मनचलों के कारण कुछ छात्राओं ने पढाई छोड़ दी। शोषण के विरुद्ध मौलिक अधिकार है, संवैधानिक उपचारों का मौलिक अधिकार है,शिक्षा का मौलिक अधिकार है तब आप डरे नहीं,हक के लिए प्रयासरत रहे। पैनल अधिवक्ता सतीश कुमार स्नेही ने कहा कि भारतीय संविधान अन्य देशों के संविधान के तुलना में अधिक लोकहितकारी है।

खबरें और भी हैं...