औरंगाबाद में आवास सहायक निलंबित:पक्के मकान वाले लाभुकों को दिया आवास योजना का लाभ, DM ने बीडीओ को दी कड़ी चेतावनी

औरंगाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

औरंगाबाद में पूर्व में आवास योजना का लाभ प्राप्त करने व पक्के मकान वालों को आवास योजना का लाभ देने वाले एक आवास सहायक को डीएम के आदेश पर निलंबित कर दिया गया है। निलंबित ग्रामीण आवास सहायक प्रिंस कुमार वर्तमान में ओबरा प्रखंड के रतनपुर पंचायत के तत्कालीन ग्रामीण आवास सहायक है। उसके उपर उक्त पंचायत के छह ऐसे लाभुकों को ग्रामीण आवास योजन का लाभ देने का आरोप है। जिनके पास पहले से ही पक्का मकान है। वहीं पूर्व में ग्रामीण आवास योजन का लाभ प्राप्त कर चुके हैं।

शिकायत मिलने पर ओबरा बीडीओ से इसकी जांच करायी गई। जांच में मामला सत्य पाया गया। जिसके बाद कार्रवाई करते हुए ग्रामीण आवास सहायक प्रिंस कुमार सिंह को चयन मुक्त कर दिया गया। वहीं ओबरा प्रखंड के ग्रामीण आवास पर्यवेक्षक के वेतन से 25 प्रतिशत मानदेय एक वर्ष तक कटौती करने का निर्देश दिया गया है। क्योंकि खराब अनुश्रवण के कारण ही उक्त आवास सहायक द्वारा ऐसे काम किया गया। इसके साथ-साथ ओबरा बीडीओ को कड़ी चेतावनी दी गई है। साथ ही बीडीओ को यह भी निर्देश दिया गया है कि अयोग्य 6 परिवारों से राशि की वसूल कर राज्य के खाता में जमा कराएं।

डीएम सौरभ जोरवाल ने बताया कि कर्मियों के लापरवाही को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अयोग्य लाभुकों को योजनाओं का लाभ देने वाले सभी कर्मी व पदाधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। इसलिए कर्मी व पदाधिकारी उचित लाभुक को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाएं।

खबरें और भी हैं...