अपहरणकर्ताओं के चुंगल से भागा बीएससी नर्सिंग छात्र:औरंगाबाद में कॉलेज जाते समय किडनैपर रसायन से किया बेहोश, चेन्नई से भागकर लौटा घर

औरंगाबाद2 महीने पहले
अपहरणकर्ताओं के चुंगल से भागा बीएससी नर्सिंग छात्र
  • फिंगरप्रिंट से निकाले एक लाख, GNSU का छात्र है युवक

औरंगाबाद: अपहरणकर्ताओं के चुंगल से एक 20 वर्षीय युवक बीएससी नर्सिंग का लापता छात्र भाग निकला। इस दौरान वह चेन्नई से भागकर अपने घर पहुंचा। जिसकी पहचान नगर थाना क्षेत्र के अहरी मोहल्ला के हनुमान नगर वार्ड नंबर 20 स्थित गली नंबर दो के रंजीत मेहता के 20 वर्षीय पुत्र सौरव प्रकाश के रूप में की गई है। जबकि युवक का पैतृक गांव फेसर थाना क्षेत्र के कुरह्मा पंचायत के पिरौटा है।

दरअसल, सौरव प्रकाश गोपाल नारायण सिंह यूनिवर्सिटी जमुहार के बीएससी नर्सिंग का छात्र है। जो यूनिवर्सिटी में ही रहकर पढ़ाई करता है। जो गत सोमवार को अपने घर से कॉलेज जाने के लिए निकला लेकिन इसी बीच वह लापता हो गया। जिसके बाद परिजनों ने काफी खोजबीन की इसके बावजूद कहीं पता नहीं चल पाया। इसके बाद परिजनों ने गुमशुदगी का रिपोर्ट नगर थाना और फेसर थाना में दर्ज करवाया और बरामदगी की गुहार लगाई।

सौरव प्रकाश गोपाल नारायण सिंह यूनिवर्सिटी जमुहार के बीएससी नर्सिंग का छात्र है।
सौरव प्रकाश गोपाल नारायण सिंह यूनिवर्सिटी जमुहार के बीएससी नर्सिंग का छात्र है।

इस संबंध में सौरभ प्रकाश ने बताया कि जैसे ही कॉलेज जाने के लिए बस पकड़कर डेहरी बस स्टैंड उतरा। तभी कुछ लोग नाम पता पूछने लगे इसी दौरान कुछ रासायनिक पदार्थ से हमें बेहोश कर दिया। इसके बाद जब होश आया तो मैं ट्रक में था इसके बाद मैं चीखने चिल्लाने लगा तो किडनैपर के द्वारा मुंह को बांध दिया गया। इस दौरान उन्होंने कई बार हमारे हाथ के फिंगर प्रिंट लिए और एक घर में कैद करके रखा था। जहां हाथ पैर बांध रखा था और मेरे अकाउंट से दो बार करके करीब एक लाख रुपये की निकासी कर लिए।

लेकिन 25 नवंबर की रात किसी तरह मौका देखकर वहां से भाग निकला और करीब 6 से 7 किलोमीटर पैदल चलकर चेन्नई स्टेशन पर पहुंचा और वहां से ट्रेन पकड़ कर 28 नवंबर को सुबह 10:00 बजे के आसपास भोपाल पहुंचा। फिर वहां से किसी व्यक्ति से फोन लेकर परिजनों को कॉल किया और फिर ट्रेन बैठकर जबलपुर आया। इसके बाद वहां से ट्रेन के माध्यम से पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन पहुंचा जहां मैं अपने परिजनों से मिला। इसके बाद परिजन हमें लेकर घर आए।

खबरें और भी हैं...