• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Aurangabad
  • Man Killed In A Fight In Aurangabad, There Was A Dispute While Backing The Car, The Miscreant Fired A Bullet In The Head

औरंगाबाद में साइड मांगने के लिए हॉर्न बजाया, हत्या:कार ड्राइवर बोला- पहले मेरी गाड़ी निकलेगी; पिस्टल निकाली और सिर में गोली मार दी

औरंगाबाद6 महीने पहले

औरंगाबाद में कार साइड करने और हॉर्न को लेकर एक शख्स की हत्या कर दी गई। 48 साल का शख्स तिलक समारोह में शामिल होकर घर लौट रहा था। आरोपी भी समारोह से निकल रहा था। दोनों की कार एकसाथ निकली और आमने-सामने आ गई। जिसके बाद शख्स ने 3-4 बार हॉर्न बजाया। गाड़ी साइड नहीं होने पर वो उतर कर उन्हें समझाने गए। बात कर लौटने लगे तो आरोपी ने पीछे से फायरिंग कर दी। गोली शख्स के सिर के पीछे लगी, जिनकी इलाज के दौरान मौत हो गई।

पोल में हिस्सा लेकर खबर पर अपनी राय दे सकते हैं।

वारदात मुफस्सिल थाना क्षेत्र के मंजूराही गांव में बुधवार की देर रात हुई। जिसमें 48 वर्षीय संजीत कुमार सिंह जो अलवर जिले के परासी थाना क्षेत्र के बहादुरपुर गांव के रहने वाले थे उनकी मौत हो गई। इधर गुरुवार सुबह परिजनों ने शव के साथ सड़क जाम कर दिया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन परिजन उनकी कार्यशैली पर सवाल उठा रहे हैं।

कार के तेज हॉर्न से झुंझलाए अपराधी ने सिर में मारी गोली
अरवल जिले के परासी थाना के बहादुरपुर गांव निवासी संजीत कुमार सिंह के बड़े भाई रंजीत कुमार सिंह ने बताया कि संजीत अपनी पत्नी के मामा के बेटे रंजन कुमार के तिलक समारोह में शामिल होने औरंगाबाद के मुफ्फसिल थाना के मंजुराही गांव गया हुआ था। संजीत के साथ उसका चचेरा भाई मिथिलेश कुमार सिंह भी मौजूद था। मिथिलेश संजीत के साथ ही तिलक में गया था। जहां गाड़ी साइड करने को लेकर गोली चला दी।

संजीत कुमार सिंह (फाइल फोटो)।
संजीत कुमार सिंह (फाइल फोटो)।

संजीत के साथ कार में बैठे मंजीत ने कहा कि- आरोपी भी कार से था। वो लोग भी गाड़ी निकाल रहे थे। हमलोग भी घर के लिए निकल रहे थे। दोनों को एक ही बार निकलने के कारण कार आमने सामने आ गई। इसके कारण संजीत ने 3-4 बार हॉर्न बजाया। नहीं हटने पर उतरकर संजीत उन्हें समझाने लगा। संजीत ने कहा कि आप आगे निकल जाइए या हमको निकलने दीजिए। यह कहकर संजीत अपनी कार की तरफ जाने लगा। तभी अपराधी पीछे से गोली मार दी। जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया।

घटना के बाद आनन-फानन में इलाज के लिए औरंगाबाद सदर अस्पताल लाया गया। जहां से प्राथमिक इलाज के बाद रेफर कर दिया गया। जिसके बाद परिजन जमुहार मेडिकल कॉलेज लेकर जा रहे थे लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। संजीत जयपुर में रहकर ट्रक चलाता था।

आरोपी संतोष सिंह गिरफ्तार
घटना के विरोध में आक्रोशित परिजनों ने गुरुवार की सुबह सदर अस्पताल के गेट पर शव को रखकर जाम कर प्रदर्शन किया। जाम की सूचना मिलते ही मुफस्सिल वह नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाने बुझाने का काम कर रही है।

इस संबंध में मुफस्सिल थानाध्यक्ष ने बताया कि अपराधी की गिरफ्तारी कर ली गई है। आगे की कार्रवाई की जा रही है। हालांकि परिजन पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं। इसके साथ-साथ परिजनों का यह भी कहना है कि गिरफ्तार होने के बाद भी अपराधी को मोबाइल दिया गया। जिसके बाद मोबाइल से उन्होंने जान मरने की धमकी दिया।