डिजिटल बैंकिंग:आरबीआई के क्षेत्रीय निदेशक बोले- ओटीपी, पिन डिजिटल आइडेंटिटी हैं, नहीं करें साझा

औरंगाबाद सदर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डिजिटल बैंकिंग के इस्तेमाल से ग्राहकों को लाभ मिल रहा है। उन्हें बार-बार बैंक शाखा जाने से निजात मिली है। डिजिटल बैंकिंग से ग्राहक अपने घर बैठे ही ट्रांजेक्शन कर रहे हैं। उक्त बातें बुधवार को शहर के एक निजी होटल में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान भारतीय रिजर्व बैंक पटना के क्षेत्रीय निदेशक संजीव दयाल ने कही। वे औरंगाबाद में आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला के समापन में पहुंचे थे। इस दौरान क्षेत्रिय निदेशक ने एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि ग्राहकों के हर सुविधा का ख्याल रखा जा रहा है। ग्राहकों को डिजिटल बैंकिंग का इस्तेमाल करना चाहिए। हां, लेकिन थोड़ी सतर्कता जरूर बरतनी चाहिए। क्योंकि आपकी एक छोटी सी गलती से आपको बड़ा नुकसान हो सकता है। क्षेत्रिय निदेशक ने कहा कि डिजिटल बैंकिंग के इस्तेमाल में आने वाले ओटीपी, पिन ग्राहक के डिजिटल आइडेंटी है। यह एक आपके घर में लगे ताला की चाभी के जैसा है। अगर चाभी आपसे खो जाती है या दूसरे व्यक्ति को मिल जाता है तो आपके घर में चोरी हो सकती है, ठीक वैसे ही डिजिटल आईडेंटी है। अगर आपकी डिजिटल आईडेंटी खो गई या किसी दूसरे के हाथ लग गई तो आपके खाते से पैसा उड़ सकता है। इसलिए इसे पूरी तरह सुरक्षित रखें। किसी से शेयर न करें। प्रेस वार्ता में बैंक ऑफ बड़ौदा के महाप्रबंधक, पीएनबी के उप महाप्रबंधक, दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक के अध्यक्ष व एलडीएम उपेन्द्र चतुर्वेदी समेत अन्य मौजूद रहे। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा औरंगाबाद में दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसका उद्घाटन रिजर्व बैंक पटना के उप महाप्रबंधक रंजीता चौधरी द्वारा किया गया। दो दिनों तक चले कार्यशाला में 46 बैंक अधिकारी शामिल हुए। जिन्हें क्षमतावर्द्धन किया गया। उक्त कार्यशाला में एमएसएमई विभाग के प्रभारी अधिकारी भी शामिल हुए। जिन्हें आरबीआई के नियमों से अवगत कराया गया।

खाते से पैसा की अवैध निकासी हो तो तत्काल बैंक को करें सूचित
क्षेत्रिय निदेशक ने बताया कि अगर किसी तरह से आपके बैंक खाते से रूपये की अवैध निकासी होती है तो तत्काल इसकी सूचना बैंक को दें। अगर ससमय आप बैंक को सूचना देते हैं तो आपको काफी मदद मिलेगी। इसके साथ-साथ उन्होंने बताया कि फ्रॉड होने पर पैसा रिकवरी होने का भी प्रावधान है, बशर्ते इसके लिए एक प्रोसेस है। जिसमें थोड़ी विलंब हो सकती है। हां, लेकिन सबसे बड़ी बात है कि आप अपनी डिजिटल आईडेंटी को सुरक्षित रखेंगे तो इस तरह की समस्या ही नहीं होगी। आपको बैंक का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि किसान, व्यवसायी समेत अन्य बैंक से जुड़ें। इसका लाभ मिलेगा।

खाते से पैसा की अवैध निकासी हो तो तत्काल बैंक को करें सूचित
क्षेत्रिय निदेशक ने बताया कि अगर किसी तरह से आपके बैंक खाते से रूपये की अवैध निकासी होती है तो तत्काल इसकी सूचना बैंक को दें। अगर ससमय आप बैंक को सूचना देते हैं तो आपको काफी मदद मिलेगी। इसके साथ-साथ उन्होंने बताया कि फ्रॉड होने पर पैसा रिकवरी होने का भी प्रावधान है, बशर्ते इसके लिए एक प्रोसेस है। जिसमें थोड़ी विलंब हो सकती है। हां, लेकिन सबसे बड़ी बात है कि आप अपनी डिजिटल आईडेंटी को सुरक्षित रखेंगे तो इस तरह की समस्या ही नहीं होगी। आपको बैंक का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि किसान, व्यवसायी समेत अन्य बैंक से जुड़ें। इसका लाभ मिलेगा।

खबरें और भी हैं...