औरंगाबाद में चुनावी रंजिश में फायरिंग:वार्ड पार्षद के ससुर को मारी गोली, हालत गंभीर, जांच में जुटी पुलिस

औरंगाबाद2 महीने पहले
गंभीर हालत में चल रहा है इलाज

औरंगाबाद नगर थाना क्षेत्र के वार्ड नंबर 33 के पिपरडीह मोहल्ले में सोमवार की रात चुनावी रंजिश को लेकर गोलीबारी की घटना घटी। वहीं इस घटना में निवर्तमान वार्ड पार्षद पिंकी यादव के ससुर सुरेश यादव को गोली लगी है, जिन्हे आनन फानन में इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें बेहतर इलाज के लिए बाहर रेफर कर दिया गया है।गोलीबारी का आरोप गांव के ही कामता यादव पर लगा है।

इस मामले में सुरेश यादव ने कामत यादव के पुत्र अजित कुमार उर्फ गब्बर, घूरा यादव, सिंटू और पिंटू पर भी सहयोग करने का आरोप लगाया है। घटना की सूचना मिलते ही नगर थानाध्यक्ष सतीश बिहारी शरण दल बल के साथ पहुंचे और पूरे मामले की जानकारी ली।

गंभीर हालत में चल रहा है इलाज
गंभीर हालत में चल रहा है इलाज

आपस में पाटीदार हैं दोनों

बताया जा रहा है कि गोलीबारी की घटना में घायल हुए सुरेश यादव की पुत्र वधु और वार्ड 31 के वार्ड पार्षद रह चुके स्व. सुरेंद्र यादव की पत्नी पिंकी यादव और कामता यादव इस वर्ष नगर परिषद के इसी वार्ड से प्रत्याशी के रूप में अपनी उम्मीदवारी दर्ज की थी, लेकिन तकनीकी कारणों से राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव को स्थगित कर दिया था।

वहीं चुनाव के स्थगित होने के बाद दोनों के अंदर प्रतिशोध की भावना पनप रही थी। इसी प्रतिशोध में कामता यादव आज शाम गाली गलौज करते हुए वार्ड पार्षद रही पिंकी यादव के घर की तरफ से गुजर रहा था। गाली-गलौज सुनकर उनके परिवार के सदस्य बाहर निकले और कामता यादव को समझाने का प्रयास किया, लेकिन ऐसा होता देख कामता यादव के भी परिवार मौके पर पहुंच गए और मामला हिंसक झड़प में तब्दील हो गया।

आरोप है कि इसी दौरान कामता यादव के द्वारा लगातार फायरिंग की गई। फायरिंग के दौरान गोली सुरेश यादव के बाएं हाथ के केहुनी के उपर बांह में लगी जिससे वे जख्मी हो गए और उन्हें सदर अस्पताल लाया गया। इस मामले में थानाध्यक्ष सतीश बिहारी शरण ने बताया कि दोनो ही आपस में पाटीदार हैं और उनके बीच जमीनी विवाद का मामला चल रहा था।

खबरें और भी हैं...