अपराध:पत्नी की विदाई और बच्चा नहीं सौंपने पर सनकी दामाद ने सास की धारदार हथियार से कर दी हत्या

कटोरियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गमगीन मृतका के पति व अन्य ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
गमगीन मृतका के पति व अन्य ग्रामीण।
  • ससुर की शिकायत पर आरोपी दामाद को गिरफ्तार कर पुलिस कर रही है पूछताछ
  • सनकी दामाद पत्नी को लाने के लिए ससुराल में पहले कर चुका मारपीट और आगजनी

सूईया थाना क्षेत्र अंतर्गत अलकुशिया गांव में बीते शनिवार रात एक सनकी दामाद ने पत्नी की विदाई में सास द्वारा टाल-मटोल करने से गुस्से में आकर अपनी सास को सड़क पर पटक के मारपीट करते हुए धारदार हथियार से वार कर हत्या कर दी। मृतका भागवत यादव की 60 वर्षीय पत्नी निर्मला देवी बतायी जाती है। स्थानीय लोगों की सूचना पर सूईया थानाध्यक्ष मनीष कुमार, सअनि विपिन यादव सदल बल मौके पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में ले लिया। इधर रविवार को आवश्यक कार्यवाही कर पुलिस द्वारा शव को पोस्टमार्टम के लिए बांका भेज दिया गया। घटना के संबंध में मृतका के पति भागवत यादव द्वारा सूइया थाना में अपने दामाद सूइया थाना क्षेत्र अंतर्गत लहरनियां गांव के मोहन यादव के पुत्र संजय यादव पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। जिसमें पुलिस द्वारा त्वरित कार्रवाई कर रविवार को थाना क्षेत्र अंतर्गत लोहटनियां गांव के निकट से आरोपी दामाद को गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल पुलिस हत्यारोपी से पूछताछ कर रही है। जानकारी के अनुसार भागवत यादव की पुत्री बेबी देवी की शादी तीन वर्ष पूर्व पास के ही लहरनियां गांव निवासी संजय यादव से हुई थी।

पत्नी के मायके रहने के कारण दोनों के बीच विवाद बढ़ता चला गया
पत्नी के बराबर मायके आकर रहने के कारण दोनों के बीच विवाद बढ़ता चला गया। इस दौरान सास ससुर द्वारा विदाई करने में आनाकानी करने के कारण संजय ससुराल सहित आस-पास तोड़ फोड़, आगजनी एवं चोरी करने लगा। जिसमें सबसे पहले अपने ससुराल के बरामदे स्थित कमरे को आग लगाकर जला दिया। इस दौरान बीच-बीच में पत्नी की विदाई कराने ससुराल पहुंचने के बाद विदाई नहीं होने पर हो हल्ला मारपीट करने लगा। जिसमें आस-पास के जिन ग्रामीण ने बीच बचाव कर उसका विरोध किया, उसके साथ भी संजय विवाद करने लगा। इस दौरान आस-पास के लोगों का मवेशी, बकरी आदि की चोरी भी कर ली। जिसे आपस का मामला बताकर स्थानीय लोगों ने समझौता करा दिया। उसके बाद भी दामाद के स्वभाव में अंतर नहीं आया और बीते चार महीने पूर्व पत्नी के पट्टेदारी कर खेत में लगाए गये धान की तैयार फसल को आग लगाकर जला दिया। इस मामले में भी आपसी बैठक कर समझौता कर लिया गया। बीते 24 मार्च देर शाम भी पत्नी को विदा कराने पहुंचे संजय का ससुराल में सास ससुर एवं पत्नी से विवाद हो गया। जिसमें बीच बचाव करने पहुंचे पास के हासो यादव के घर पर पत्थरबाजी करने लगा।

सास की हत्या करने के बाद मौके से फरार हुआ दामाद गिरफ्तार
घटना को लेकर आरोपी के साले सचिन यादव ने अपने बहनोई संजय के विरूद्ध सूईया थाना में आवेदन दिया था। जिसमें पिता द्वारा बहन की विदाई नहीं करने के चलते बहनोई द्वारा उत्पात मचाने का आरोप लगाया गया था। इस मामले में भी प्राथमिकी दर्ज नहीं हो सकी और मामला सलटा लिया गया। इधर अक्सर विवाद होता देख बेबी देवी चुपके से मायके से भागकर कटोरिया थाना क्षेत्र अंतर्गत कड़वामारनी गांव स्थित अपने मामा घर चली गयी। पत्नी को ससुराल में नहीं देख संजय बराबर सास से उसका पता पूछने लगा। साथ ही पत्नी की विदाई की जगह बच्चे को सौंपने की मांग करने लगा। इस दौरान सास द्वारा बराबर टाल-मटोल करने पर बीती रात गांव स्थित एक घर में आए सास ससुर के अलग-अलग वापस लौटने के दौरान सनकी दामाद ने सास को सड़क पर पटक कर धारदार हथियार से मारकर हत्या कर दी। तभी लाेगाें की भीड़ जुटती देख सनकी दामाद वहां से फरार हाे गया।

मनमौजी बेबी की तीसरी शादी संजय से हुई थी
इधर घटना को लेकर स्थानीय ग्रामीण बता रहे थे कि बेबी की तीसरी शादी संजय से हुई थी। पहले की दोनों शादी बेबी के मनमाने स्वभाव से टूटी थी। वहीं बेबी के मनमानेपन में माता पिता का हमेशा समर्थन रहा।

मामला दर्ज कर की जा रही है आगे की कार्रवाई

पत्नी को पति मायके से ससुराल ले जाने चाह रहा था, इंकार करने पर दामाद से सास की हत्या कर दी। इस मामले में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है
- डाॅ. सत्यप्रकाश, एसपी, बांका

खबरें और भी हैं...