बैंकिंग कार्य से जुड़ेंगी बैंक सखी:बांका के सभी 182 पंचायतों में सीएसपी का करेंगी संचालन, प्रशिक्षण के बाद जीविका उपलब्ध करा रहा संसाधन

बांका2 महीने पहले

बांका में बैंक सखी अब सीधे बैंकिंग कार्य से जुड़ेंगी। इसके लिए राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत हर पंचायतों में जीविका द्वारा बैंक सखी के माध्यम से एक सीएसपी दिया जाना है। इसके लिए पंचायतों में दीदी का चयन कर उन्हें पहले प्रशिक्षण दिया जाता है। इसके बाद उन्हें डिवाइस देकर बैंक का संचालन कराया जाता है।

जिला सूक्ष्मवित्त प्रबंधक राकेश कुमार पाण्डे ने बताया कि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत जिले के सभी 182 पंचायतों में जीविका के माध्यम से सीएसपी का संचालन बैंक सखी के माध्यम से किया जाना है। इसके तहत अभी 55 पंचायतों में बैंक सखी कार्य कर रही है।

गुरूवार को 32 बैंक सखी को प्रशिक्षण के बाद 26 को फि नो बैंक का डिवाइस दिया गया है। शेष बैंक सखी के कागज पूर्ण नहीं होने के कारण इन्हें डिवाइस नहीं दिया गया है। प्रशिक्षण के दौरान जीविका की बैंक सखी को सीएसपी संचालन की सभी टेक्निकल बातों को बताया गया। उन्होंने बताया कि दूर दराज के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को बैंकिग सेवा के लिए दूर दराज के गांव नहीं जाना पड़ेगा। ताकि लोगों को गांवो में ही बुजुर्ग लोगों को पेंशन, मनरेगा का भुगतान सहित गांवों में ही सभी बैंक के कार्य की सुविधा मिलेगी। जल्द ही सभी पंचायतों में कार्य शुरू हो जाएगा।

खबरें और भी हैं...