अब FPO सीधे किसानों से खरीदेंगे धान:बांका में सहकारिता विभाग ने जारी किया निर्देश; 29,939 धान खरीद का लक्ष्य

बांका2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सहकारिता विभाग की ओर से निर्देश जारी किया गया। - Dainik Bhaskar
सहकारिता विभाग की ओर से निर्देश जारी किया गया।

बांका में किसान अब कृषक उत्पाद संगठन यानी एफपीओ के माध्यम से भी धान बेच सकेंगे। इसके लिए सहकारिता विभाग की ओर से निर्देश जारी किया गया है। अब तक किसान पैक्स और व्यापार मंडल के माध्यम से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान की बिक्री करते थे।लेकिन अब इसमें बड़ा बदलाव किया गया है। इसमें सबसे अहम पोर्टेबिलिटी की सुविधा को खत्म कर दिया गया है। इसे खत्म करने से किसान अब धान की बिक्री किसी दूसरे पैक्स में नहीं कर सकेंगे। उन्हें अपने पैक्स या व्यापार मंडल में ही धन को बेचना होगा।

अब तक किसान अपने धान की बिक्री एमएसपी पर किसी दूसरे पैक्स के माध्यम से भी कर देते थे।पोर्टेबिलिटी की सुविधा खत्म हो जाने से किसान अब केवल अपने संबंधित पैक्स या व्यापार मंडल में ही धान बेच सकेंगे। साथ ही जिस पंचायत में पैक्स सक्रिय नहीं है, वहां पर एफपीओ के माध्यम से धान की खरीद होगी। अगर वहां पर एफपीओ नहीं होगा तो निकटवर्ती पैक्स के साथ टैग किया जाएगा।

लागिन-आइडी भी मिलेगी

सहकारिता विभग की ओर से धान खरीद के लिए जिन एफपीओ को चिह्नित किया जाएगा। उन्हें पैक्सों की तरह ही सुविधाएं दी जाएंगी। एफपीओ को चिह्नित करते समय उसके भंडारण क्षमता आदि की जांच की जाएगी। इसके बाद ऐसे समूहों का खाता स्थानीय कॉपरेटिव बैंक में खोलकर विभाग को प्रस्ताव भेजा जाएगा। इसके बाद लॉगिन की सुविधा दी जाएगी।

29, 939 एमटी धान की होगी खरीद

जिला सहकारिता पदाधिकारी संगीता कुमारी ने बताया कि इस बार 29 हजार 939 एमटी धान खरीद का लक्ष्य प्राप्ता हुआ है। यहां अभी तक धान खरीद के लिए 143 पैक्स का चयन किया है। इसके माध्यम से अब तक 55 किसानों से 221 एमटी धान की खरीद की गई है। उन्होंने बताया कि पैक्सों के अलावे वैसे पंचायत जहां पैक्स सक्रिय नहीं है।

उन पंचायतों में कृषि विभाग या जीविका द्वारा गठित किसान उत्पादक समूह (एफपीओ) के माध्यम से धान खरीद की जाएगी। लेकिन इसके लिए अभी तक कोई गाइडलाइन नहीं आया है। सभी किसानों से धान खरीद हो इसके लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। डीसीओ बांका संगीता कुमार ने कहा ने कि एफपीओ के माध्यम से धान की खरीद को लेकर विभाग से निर्देश मिला है। इसके लिए एफपीओ को सोसाइटी एक्ट के अंतर्गत पंजीकृत होना होगा।

खबरें और भी हैं...