हादसा:मामा की शादी में शामिल होने आयी दो बच्चियाें की चांदन नदी में डूबने से मौत

बांका2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बच्ची की मौत के बाद घर के बाहर मौजूद लोगों की भीड़। - Dainik Bhaskar
बच्ची की मौत के बाद घर के बाहर मौजूद लोगों की भीड़।

चांदन नदी स्थित एकोरिया बीयर समीप बने एक बढ़े गड्ढे में डूबने से दो बच्ची की मौत मंगलवार की सुबह हो गयी। दोनों बच्ची लकड़ीकोला स्थित अपने मामा की शादी में आयी थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार लकड़ीकोला निवासी अमित कुमार की शादी सोमवार को थी। सभी लोग कहलगांव बारात गये हुए थे। मंगलवार को परिवार के ही चार-पांच बच्चे नहाने के लिए घर में बिना बताये एकोरिया बीयर समीप गड्ढे में गये थे। नहाने के दौरान ककवारा निवासी विजय मोहली की 10 वर्षीय बेटी नीलम कुमारी व बौंसी थाना क्षेत्र के दलिया गांव निवासी रमेश मोहली की 9 वर्षीय दिव्या कुमारी की जान गहरे पानी में डूबने से चली गयी।

पानी इतना गहरा था कि दोनों की डूबने से मौत हो गयी। दोनों बच्ची को डूबता देख अन्य बच्चे दौड़े-दौड़े गांव पहुंचे, जहां उन्होंने दोनों बच्ची के डूबने की घटना परिजनों को बतायी। जिसके बाद दोनों बच्ची के परिजन सहित अन्य ग्रामीण मौके पर पहुंचे। जहां तैरते हुए बच्ची के शव को निकाला गया।

एक बच्ची टाउन थाना के चौकीदार की पुत्री थी परिजनों व अन्य ग्रामीणों के मौके पर पहुंचने के बाद देखा कि दोनों बच्ची का शव गड्ढे में तैर रहा था। जिसके बाद मौके पर मौजूद मो. मंसूर व मो. गफूर ने दोनों बच्ची को बाहर निकाला। बाहर निकालने के बाद पता चला कि दोनों बच्ची की मौत हो गयी। जिसके बाद दोनों बच्ची के परिजनों ने शव को अपने-अपने घर बौंसी के दलिया व बांका के ककवारा ले गये। जहां उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार ककवारा निवासी विजय मोहली बांका टाउन थाना में चौकीदार है। विजय मोहली के साले की शादी में बच्ची अपने माता-पिता के साथ गयी थी।

वहीं बौंसी के दलिया गांव निवासी रमेश मोहली भी अपनी बच्ची दिव्या के शव को लेकर अपने घर पहुंचे। जहां बच्ची के निधन से पूरे परिवार में मातम पसरा हुआ था। बताया गया कि रमेश मोहली को 6 पुत्री व एक पुत्र है। दिव्या उनकी तीसरी बेटी थी।

बारात लौटने से पूर्व ही परिजन बच्चियों के शव को ले गए घर एकोरिया बीयर समीप बने गड्ढे में दोनों बच्ची के मौत के बाद लकड़ीकोला स्थित बच्ची के मामा घर में माहौल गमगीन हो गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। बताया गया कि शादी संपन्न होने के बाद बारात कहलगांव से वापस लौटने वाली थी। बारात लौटने से पूर्व ही दोनों बच्ची के परिजन अपने-अपने बच्ची के शव को घर ले गये, ताकि शादी वाले घर माहौल ज्यादा गमगीन न हो।

ग्रामीणों ने लगाया आरोप, अवैध बालू उत्खनन से बना है गड्‌ढ़ा बांका जिले में विभिन्न नदियों से अवैध उत्खनन रूकने का नाम नहीं ले रहा है। एकोरिया बीयर समीप जिस गड्ढे में डूबकर दो मासूम की जान चली गयी, ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि वह गड्ढा भी बालू माफियाओं द्वारा अवैध बालू के उठाने से हुई है। ग्रामीणों का कहना है कि चांदन नदी के आसपास से लगातार अवैध बालू का उठाव हो रहा है।

खबरें और भी हैं...