क्रमबद्ध आंदोलन करने का निर्णय:आयुष चिकित्सक काली पट्टी बांधकर करेंगे कार्य

बेगूसराय15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आयुष मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन एवं आयुष सर्विसेज एसोसिएशन ऑफ बिहार की संयुक्त बैठक रविवार को हुई। बैठक में बिहार सरकार द्वारा आयुष चिकित्सकों की बहाली में बेवजह देरी किए जाने से आक्रोशित दोनों संघ के चिकित्सकों ने क्रमबद्ध आंदोलन करने का निर्णय लिया है।

बैठक के उपरांत पत्रकारों को संबोधित करते बेगूसराय जिला के आशा संघ के अध्यक्ष डॉ रतीश रमन ने कहा कि सरकार द्वारा वर्ष 2020 से चिकित्सकों के नियमितीकरण के लिए बीटीएससी द्वारा विज्ञापन निकाला गया था। वर्ष 2022 में फरवरी माह में इसकी सभी प्रक्रिया पूरी कर ली गई। इसका 7 महीना बीत जाने के बावजूद सरकार द्वारा अभी तक राज्यभर के 3270 आयुष चिकित्सकों की बहाली को लेकर कोई ठोस निर्णय नहीं लिया गया है।

मौके पर पत्रकारों से अमसा संघ के डॉ सुशील कुमार ने बताया गया कि 2018 के गजट में आयुष चिकित्सकों को एमबीबीएस चिकित्सक के समतुल्य मानदेय देने का निर्णय लिया गया था। परंतु आयुष चिकित्सकों को अभी भी 40 हजार रुपए वेतन दिया जा रहा है, जबकि एमबीबीएस चिकित्सकों का वेतन फरवरी 2019 से ही 65 हजार रुपए कर दिया गया।

मौके पर सचिव डॉ नवीन कुमार ने बताया कि जिला के सभी आयुष चिकित्सक 19 सितंबर को काला बिल्ला लगाएगें। इसके बाद 26 सितंबर को जिला मुख्यालय सहित सभी पीएचसी में कलम बंद कार्य करेंगे।

खबरें और भी हैं...