सदर अस्पताल का निरीक्षण:डीएम ने सदर अस्पताल का किया औचक निरीक्षण

बेगूसरायएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सदर अस्पताल का निरीक्षण करते डीएम रौशन कुशवाहा। - Dainik Bhaskar
सदर अस्पताल का निरीक्षण करते डीएम रौशन कुशवाहा।

सदर अस्पताल में इलाज कराने आए मरीजों को बाहर से दवा लेने की जरुरत नहीं पड़े, इसकी व्यवस्था सुदृढ की जाएगी। रोशन कुशवाहा ने सदर अस्पताल का निरीक्षण करने के बाद उक्त बातें कही। गुरुवार को साढ़े चार बजे से लेकर 6ः23 तक सदर अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। अस्पताल में समीक्षा बैठक चल रहा था, जिसकी वजह से सभी चिकित्सक एवं स्वास्थ कर्मी उपस्थित थे। जैसे ही सदर अस्पताल में डीएम के आने की सूचना सिविल सर्जन सहित अन्य अधिकारियों को मिली, बैठक समाप्त कर उनके साथ हो लिए।

निरीक्षण के क्रम में डीएम ने पुरानी बिल्डिंग स्थित सामान्य वार्ड, काला जार वार्ड, बर्न वार्ड, दीदी की रसोई सहित अन्य वार्डों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में सिविल सर्जन डॉ प्रमोद कुमार द्वारा एक-एक वार्ड की स्थिति की जानकारी दी जा रही थी। इसके उपरांत ब्लड बैंक के साथ-साथ नई बिल्डिंग में बने विभिन्न ओपीडी का निरीक्षण किया गया। डीएम के निरीक्षण के के दौरान ब्लड बैंक की कुव्यवस्था का पोल खुलने के डर से अधिकारियों ने उन्हें तोड़ी जा रही प्रत्यक्त भवन के कार्यों को दिखाकर ही आगे बढ़ा दिया।

डीएम ने कहा-बाहर ही रूकें

​​​​​​​रीक्षण के क्रम में दवा स्टोर रूम की ओर जाते ही डीएम रोशन कुशवाहा ने पत्रकारों से कहा कि आपलोग बाहर ही रूकें। इसके बाद स्टोर में रखे फ्रीज सहित अन्य दवा स्टोर को देखा। साथ ही स्टोर इंचार्ज से यहां की व्यवस्था के बारे में जानकारी हासिल किया। दवा स्टोर रूम से निकल कर जिला स्वास्थ समिति कार्यालय की ओर बढ़े और कहा कि अस्पताल में भवन निर्माण ठीक से नहीं कराया गया है। इसके साथ ही उन्होंने पूछा कि अस्पताल में जल निकासी की क्या सुविधा है। इस पर चिकित्सकों ने कहा सर एक-दो घंटे में पानी स्वत निकल जाता है।

डीएम ने त्रुटि दूर करने के लिए दी मोहलत
निरीक्षण के बाद डीएम ने कहा कि सरकारी अस्पताल से लोगों की काफी अपेक्षा बढ गई है। यह अच्छी बात है। बढते मरीजों की संख्या को देखते हुए यहां बड़े स्तर पर सरकार एवं बरौनी रिफाइनरी द्वारा निर्माण कार्य कराया जा रहा है। नई बिल्डिंग बनने के बाद सदर अस्पताल काफी व्यवस्थित हो जाएगा। उन्होंने कहा कि निरीक्षण के दौरान पाई गई त्रुटियों को लेकर दिशा निर्देश दिया गया है और उसे बीस दिनों के अंदर दूर करने को कहा गया है।

खबरें और भी हैं...